दुल्हन ने दूल्हे को मंगलसूत्र पहनाकर किया सदियों पुरानी रिवाज का खंडन, कन्यादान की रस्म का भी नहीं हुआ पालन

4
0 Shares

नई दिल्ली। हिंदू धर्म में विवाह के दौरान कई रीति- रिवाज़ों का पालन किया जाता है जिनका शास्त्रों में बेहद महत्व है। सिंदूरदान, जयमाल, फेरे व वर द्वारा वधू को मंगलसूत्र पहनाना जैसी कई सारी रस्मों को लोग निभाते हैं। हाल ही में इनमें से एक रस्म का खंडन किया गया। दरअसल, शादी के मंडप में दुल्हन ने दूल्हे को मंगलसूत्र पहनाकर सबको चौंका दिया।

ऐसा माना जाता है कि शादीशुदा महिलाएं ताउम्र अपने पति की रक्षा के लिए मंगलसूत्र पहनती हैं। मंगलसूत्र के काले मोती किसी भी बुराई से वैवाहिक जीवन की रक्षा करती हैं। विवाह में होने वाले अपशकुन में रोकने को लिए मंगलसूत्र पहनाया जाता है।

 

Unique Marriage

कर्नाटक के मु्द्देबिहाल में आयोजित एक विवाह समारोह में ना केवल पति ने पत्नी को मंगलसूत्र पहनाया बल्कि पत्नी ने भी ऐसा ही किया। बता दें कि शादी में जाति भेद को भी दरकिनार रखा गया। यहां दूल्हा हालमत सम्प्रदाय और दुल्हन बानाजिगा सम्प्राय से है।

यह शादी अपने आप में अनोखी रही। एक तरफ जहां दुल्हन ने भी दूल्हे को मंगलसूत्र पहनाया और दूसरी तरफ विवाह में कन्यादान की रस्म का पालन भी नहीं किया गया क्योंकि वर और वधू दोनों का ही ऐसा मानना है कि कन्या कोई सम्पत्ति नहीं है जिसे वक्त आने पर आप दान कर दे।

शादी में आए हुए मेहमान ने गुलाब की पंखुड़ियों से नवविवाहित जोड़े को अपना आशीर्वाद दिया। यह एक ऐसी शादी रही जहां कई सारे रिवाज़ों का खंडन किया गया।

0 Shares