गांव की जनसंख्या बढ़ाने के लिए यहां के लोग करते हैं ऐसा काम, जानकर नहीं होगा यकीन

1

नई दिल्ली: दुनिया में कई सारे देश ऐसे हैं जिनकी आबादी ( population ) तेजी से बढ़ती जा रही है। ऐसे देशों में रहने के लिए लोगों को काफी मशक्कत करनी पड़ती है, लेकिन वहीं दुनिया में एक ऐसा गांव है जिसकी आबादी महज 27 है। इस गांव में इतने कम लोग हैं कि यहां ज्यादातर इलाके खाली ही पड़े रहते हैं और यहां लोगों को अकेलापन महसूस होता था। लेकिन फिर इस गांव के निवासियों ने अकेलेपन से से बचने के लिए ऐसा तरीका निकाला जिसके बारे में जानकर आपको भी यकीन नहीं होगा।

34 साल पहले 7 साल का बच्चा खेल-खेल में पार कर गया था सरहद, पाकिस्तान ने लौटाने के बदले की ऐसी मांग

दरअसल आबादी कम होने की वजह से यहां के लोगों का समय नहीं कटता था ऐसे में लोगों ने इस गांव में खालीपन को दूर करने के लिए पुतले रखना शुरू कर दिया और धीरे-धीरे करके पुतलों की ये संख्या बढ़ती हुई चली गयी और अब ये संख्या 270 है। इस गांव में आपको हर जगह इंसानी शक्ल के पुतले मिल जाएंगे जिन्हें देखकर एक बार तो आप भी चकमा खा जाएंगे।

आपको बता दें कि यह अजीबों-गरीब गांव पश्चिमी जापान ( japan ) के शिकोकू टापू पर बसा है, जिसका नाम है नागोरो है। इस गांव की एक और खासियत ये है कि इसमें एक भी बच्चा नहीं है इसलिए यहां के लोगों ने क्लासरूम ( classroom ) में भी बच्चों के पुतले रखे हुए हैं। लगभग 16 साल पहले इस गांव में पुतले ( DOLLS ) बनाने की शुरुआत हुई थीे। यहां रहने वाली 69 साल की सुकिमी आयनो नाम की महिला इन पुतलों को तैयार करती हैे।

लोगों पर एक्सपेरिमेंट करवाता था हिटलर, बनवाया हुआ था एक खतरनाक कमरा

इन पुतलों की वजह से अब ये गांव भरा-भरा सा लगता है और लोगों को यहां अकेलापन महसूस नहीं होता है जबकि इन पुतलों के आने से पहले ये गांव एकदम खाली था जिसकी वजह से लोगों को यहां रहना अजीब लगता था पर अब सबकुछ बदल चुका है।