एलटी ग्रेड परीक्षा पेपर लीक मामले में उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (यूपीपीएससी) के  पूर्व चेयरमैन अनुरुद्ध यादव से भी पूछताछ होगी। इस सम्बंध में पुलिस ने चेयरमैन को तीन दिन के अंदर पेश होने की सोमवार को नोटिस जारी की है। निर्धारित समय में चेयरमैन पेश नहीं हुए गिरफ्तारी के लिए वारंट जारी किया जाएगा। 

एसएसपी आनंद कुलकर्णी ने बताया कि विवेचना के दौरान पता चला है कि बीते वर्ष 29 जुलाई को आयोजित एलटी ग्रेड शिक्षक परीक्षा में पेपर लीक होने पर दिसम्बर 2018 में एसटीएफ ने यूपीपीएससी के तत्कालीन चेयरमैन अनुरुद्ध यादव को पत्र भेजकर कोलकाता स्थित सिक्योरिटी प्रिटिंग प्रेस में छपाई नहीं कराने के लिए अवगत कराया था। इसके साथ ही परीक्षा का रिजल्ट भी जारी नहीं करने के लिए अनुरोध किया था। बावजूद रिजल्ट जारी कर दिया गया।

इसके बाद पत्र भेजकर मामले से जुड़ी पत्रावली मांगी गयी। लेकिन तत्कालीन चेयरमैन की ओर से उपलब्ध नहीं करायी गयी। पिछले दिनों परीक्षा नियंत्रक अंजूलता से पूछताछ हुई थी तो उन्होंने बयान दिया था कि रिजल्ट जारी करने का निर्णय चेयरमैन की अध्यक्षता में हुई बोर्ड की बैठक में लिया गया था। अब तत्कालीन चेयरमैन से पूछताछ की जाएगी। उन्हें नोटिस प्राप्ति होने के बाद तीन दिन तक का मौका दिया गया है। बताया कि एसपी क्राइम, सीओ सदर, सीओ पिंडरा व क्राइम ब्रांच प्रभारी की बनी एसआईटी के सामने पेश होना होगा। यदि समय के अंदर नहीं पहुंचते हैं वारंट जारी किया जाएगा।