शनिवार को जिला जेल में बंदी की मौत होने के बाद देर शाम 7 बजे बंदी का शव गांव पहुंचा तो परिवार में कोहराम मच गया। परिजन और ग्रामीण किशनी पुलिस के व्यवहार से बेहद आक्रोशित थे। गुस्साए परिजनों ने बंदी के शव का अंतिम संस्कार करने से इनकार कर दिया। कई थानों की पुलिस लेकर जिले के दो एसडीएम, सीओ मौके पर पहुंच गए। पूरी रात परिजनों, ग्रामीणों को समझाया गया। रविवार को दोपहर एक बजे तक अंतिम संस्कार के लिए परिजनों को समझाने का दौर चला। प्रशासनिक अधिकारियों की कड़ी मशक्कत के चलते 18 घंटे बाद बंदी के शव का अंतिम संस्कार किया गया। 

थाना क्षेत्र के ग्राम महिगवां निवासी छोटेलाल उर्फ रवि पुत्र रामौतार शाक्य को पुलिस ने 18 जुलाई को शराब बेचने के आरोप में जेल भेजा था। रवि की 19 जुलाई को हालत बिगड़ी तो जेल प्रशासन ने उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया। जहां उसकी मौत हो गई। पोस्टमार्टम के बाद पुलिस ने शव परिजनों के हवाले कर दिया। शनिवार की शाम 7 बजे बंदी का शव गांव पहुंचा तो परिजनों में कोहराम मच गया। परिजनों में किशनी पुलिस को लेकर गुस्सा था। रात में एसडीएम किशनी प्रेमप्रकाश, सीओ भोगांव प्रयांक जैन, एसडीएम करहल रतन वर्मा पुलिस बल के साथ पहुंच गए। रातभर अंतिम संस्कार के लिए परिजनों को मनाने का दौर चला। लेकिन परिजन अंतिम संस्कार के लिए राजी नहीं हुए। 

तनाव बढ़ा तो कई थानों की पुलिस मौके पर भेजी गई 
किशनी। रविवार की सुबह प्रशासनिक अधिकारियों ने परिजनों और ग्रामीणों को समझाने की कोशिश की लेकिन बात नहीं बनी। परिजनों ने जेल में बंद दूसरे भाई दुर्गेश को रिहा करने और आरोपी दरोगा को मौके पर बुलाने की मांग की। प्रशासन ने इन दोनों ही मांगों को मानने से इनकार कर दिया। इस दौरान पुलिस ने नोकझोंक भी हुई। तनाव बढ़ा तो एसपी ने कई थानों की पुलिस, महिला पुलिस को भी मौके पर भेज दिया। 

भाजपा, सपा नेताओं ने परिजनों को समझाया 
जानकारी पाकर भाजपा नेता प्रेमसिंह शाक्य, विधायक किशनी ब्रजेश कठेरिया, सपा नेता डैनी यादव, राहुल यादव आदि ने भी गांव जाकर परिजनों को समझाने का प्रयास किया। दोपहर एक बजे मृतक का भाई राजस्थान से गांव आया तो सीओ प्रयांक जैन ने उससे बात की। जानकारी दी गई कि आरोपी दरोगा के खिलाफ मुकदमा दर्ज हो गया है। एसपी ने उसे लाइन हाजिर भी कर दिया है। इसके बाद परिजन अंतिम संस्कार के लिए राजी हुए। डेढ़ बजे के करीब शव का अंतिम संस्कार कर दिया गया।

वर्जन
मृतक के चाचा की तहरीर पर पुलिस ने दरोगा के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। दरोगा को लाइन हाजिर भी कर लिया गया है। जो आरोप है उसकी निष्पक्ष जांच होगी। दोषियों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। 
अजय शंकर राय एसपी, मैनपुरी