मुंबई। भारतीय टीम के ऑलराउंडर और आईपीएल में मुंबई इंडियंस (एमआई) की तरफ से खेलने वाले हार्दिक पांड्या के लिए पिछला कुछ समय बेहद मुश्किल रहा। एक चैट शो के दौरान महिलाओं के खिलाफ अभद्र टिप्पणी कर हार्दिक विवादों में आए थे। इसके कारण उन्हें न केवल खेल से दूर होना पड़ा बल्कि मानसिक पीड़ा भी झेलनी पड़ी।

अब यह हरफनमौला खिलाड़ी विवादों को भुलाकर सिर्फ खेल पर अपना ध्यान केंद्रित कर रहा है। पांड्या ने बुधवार देर रात खेले गए इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 12वें सीज़न के मैच में चेन्नई सुपर किंग्स (सीएसके) के खिलाफ शानदार प्रदर्शन किया। हार्दिक के प्रदर्शन की बदौलत ही मुंबई टीम यह मुकाबला 37 रनों से जीतने में कामयाब रही थी।

पांड्या का ऑलराउंड प्रदर्शन-

मुंबई के होम ग्राउंड वानखेड़े स्टेडियम में खेले गए मैच में हार्दिक ने पहले बल्लेबाज़ी में हाथ दिखाते हुए महज़ आठ गेंदों पर 25 रन ठोक दिए। इस बाद उन्होंने गेंदबाज़ी में कमाल दिखाते हुए चार ओवर गेंदबाज़ी करते हुए केवल 20 रन खर्च करते हुए तीन विकेट चटकाए। अपने इस प्रदर्शन के दम पर उन्हें ‘मैन ऑफ द मैच’ के पुरस्कार से नवाज़ा गया।

मैच के बाद बात करते हुए पांड्या ने उन सभी लोगों का शुक्रिया अदा किया जिन्होंने इस मुश्किल समय में उनका साथ दिया।

पांड्या ने कहा, “पहले चोट लगी और उसके बाद विवाद। यह सात महीने आसान नहीं रहे और उस दौरान मुझे पता नहीं था कि क्या करना है। यह अवॉर्ड खास है और मैं इसे उन लोगों को समर्पित करता हूं जिन्होंने मुश्किल समय में मेरा साथ दिया। मेरा काम लगातार अच्छा प्रदर्शन करना है। उम्मीद है कि मैं भारत को वर्ल्ड कप दिलाने में मदद कर पाऊंगा।”

उन्होंने कहा, “टीम की जीत में योगदान देकर हमेशा अच्छा महसूस होता है। सात महीने से मैंने प्रतिस्पर्धी क्रिकेट नहीं खेली थी। मैं सिर्फ नेट्स में बल्लेबाज़ी कर रहा था। मैं वैसा खिलाड़ी हूं जो मैच खेलना पसंद करता है। मैं इस समय गेंद को अच्छा मार रहा हूं।”

Sport news से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर और पाएं क्रिकेट, फुटबॉल, हॉकी, टेनिस के हर अपडेट

IPL 2019 से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE Score अपडेट तथा IPL 2019 कार्यक्रम के लिए Download करें patrika Hindi News App.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here