एस श्रीसंत दो बार रहे विश्व विजेता टीम का हिस्सा, 2011 वर्ल्ड कप फाइनल था आखिरी मैच

3

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने टीम इंडिया के स्टार गेंदबाज रहे एस श्रीसंत पर लगे आजीवन बैन को हटा दिया है। हालांकि अभी उनके क्रिकेट खेलने को लेकर बीसीसीआई को ही फैसला करना है। एस श्रीसंत एक वक्त में भारतीय टीम के स्टार गेंदबाजों में शामिल थे। अपनी रफ्तार भरी गेंदबाजी की बदौलत एस श्रीसंत भारतीय टीम में शामिल हुए थे।

श्रीसंत का करियर

श्रीसंत ने साल 2005 में इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्यू किया था। 2005 में उन्होंने वनडे में और 2006 में टेस्ट मैच में डेब्यू किया था। श्रीसंत ने अपने करियर में अभी तक 53 वनडे मैच खेले हैं, जिसमें उन्होंने 75 विकेट लिए हैं। वहीं 27 टेस्ट मैचों में श्रीसंत ने 87 विकेट लिए हैं। श्रीसंत ने 10 टी20 मैच भी खेले हैं, जिसमें उन्होंने 7 विकेट लिए हैं। इसके अलावा आईपीएल में भी श्रीसंत का जलवा देखने को खूब मिला है। आईपीएल में उन्होंने 44 मैचों में 40 विकेट लिए हैं।

दो बार विश्व विजेता टीम का रहे हैं हिस्सा

अपने करियर में श्रीसंत दो बार विश्व विजेता टीम का हिस्सा रहे हैं। 2007 टी20 वर्ल्ड कप में श्रीसंत टीम इंडिया का हिस्सा थे। भारतीय टीम के विश्व कप जीतने में श्रीसंत का प्रदर्शन काफी अहम था। इसके अलावा 2011 वर्ल्ड कप में भी श्रीसंत भारतीय टीम में शामिल थे। वर्ल्ड कप के फाइनल में श्रीसंत खेले थे। हालांकि इस मैच में उन्हें कोई विकेट नहीं मिला था। वर्ल्ड कप का फाइनल मैच ही उनका अभी तक आखिरी वनडे मैच है। उसके बाद से वो कोई वनडे मैच नहीं खेले।

केरल के लिए रणजी खेलते थे श्रीसंत

इंटनेशनल क्रिकेट से पहले श्रीसंत ने केरल के लिए रणजी खेला है। एक समय उन्हें रणजी ट्रॉफी से ड्रॉप कर दिया गया था। इसके बाद उन्होंने ये मान लिया था कि वो इंटरनेशनल क्रिकेट नहीं खेल पाएंगे, लेकिन मुनफ पटेल के आत्मविश्वास की बदौलत वो इंटरनेशनल क्रिकेट खेले।