टेस्ट स्पेशलिस्ट चेतेश्वर पुजारा का दिखा नया अवतार, टी-20 मैच में जड़ डाला धुंआधार शतक

6
0 Shares

नई दिल्ली। टेस्ट क्रिकेट में भारत के मिडिल ऑर्डर के बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा ने टी-20 फॉर्मेट में ऐसा कमाल कर दिखाया है कि दुनियाभर में उनकी काबिलियत के चर्चे हो रहे हैं। दरअसल, गुरुवार को पुजारा ने मुश्ताक अली टी-20 ट्रॉफी के एक मैच में शतक जड़ डाला। इस शतक के बाद उन्होंने ये संदेश दे दिया है कि वो सिर्फ टेस्ट फॉर्मेट के बल्लेबाज नहीं हैं, बल्कि जरुरत पड़ने पर वनडे और टी-20 फॉर्मेट में भी धमाकेदार पारी खेल सकते हैं।

कुछ रिकॉर्ड भी बना गए पुजारा

– गुरुवार को सौराष्ट्र की तरफ से खेलते हुए पुजारा ने 61 गेंदों में 100 रन की पारी खेली और वो नॉट आउट रहे। अपनी इस पारी में उन्होंने 14 चौके और एक सिक्स लगाया। इस पारी में उनका स्ट्राइक रेट 163 से ज्यादा का ही रहा।

– रेलवे के खिलाफ ग्रुप सी के मैच में पुजारा ओपनिंग करने आए। टी-20 फॉर्मेट में पुजारा का ये पहला शतक है। इसके साथ ही पुजारा टी-20 क्रिकेट में शतक जड़ने वाले सौराष्ट्र के पहले बल्लेबाज भी बन गए।

– अपनी पारी के पहले 50 रन पुजारा ने 29 गेंदों में पूरे किए, जबकि दूसरे 50 उन्होंने 32 गेंदों में पूरे किए। पूरी पारी के दौरान पुजारा एक अलग ही अंदाज में नजर आए।

सौराष्ट्र के काम न आई पुजारा की पारी

– हालांकि चेतेश्वर पुजारा की पारी सौराष्ट्र के काम नहीं आई और उनकी टीम 20 ओवर में 188 रन बनाने के बाद भी मैच हार गई। टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी सौराष्ट्र की टीम की तरफ से पुजारा ने पहले देसाई के साथ मिलकर 85 रन की साझेदारी की और फिर 85 रन पर देसाई के रूप में सौराष्ट्र को पहला झटका लगने के बाद पुजारा ने रॉबिन उथप्पा के साथ मिलकर 82 रन की साझेदारी की।

बस 5 ही वनडे खेले हैं 31 साल के पुजारा ने

– आपको बता दें कि चेतेश्वर पुजारा ने अभी तक कोई इंटरनेशनल टी-20 मैच नहीं खेला है। वहीं 31 साल के पुजारा ने अपने करियर में सिर्फ 5 वन-डे मैच खेले हैं, जिसमें उन्होंने सिर्फ 51 रन बनाए हैं। वहीं टेस्ट फॉर्मेट के वो बेहतरीन खिलाड़ी हैं और टीम के साथ रेग्युलर खेलते हैं। पुजारा ने अपने करियर में 68 टेस्ट मैच खेले हैं, जिसमें 114 पारियों में 5246 रन बनाए हैं।

0 Shares