विश्व चैम्पियनशिप में खिताब जीतकर इतिहास रचने वाली भारतीय महिला बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु मंगलवार (16 सितंबर) से यहां शुरू हो रहे चीन ओपन विश्व टूर सुपर 1000 टूर्नामेंट में जब भारतीय चुनौती की अगुआई करेंगी तो उनकी नजरें एक बार फिर से खिताब जीतने पर लगी होंगी। वर्ल्ड नंबर-5 सिंधु ने पिछले महीने स्विटजरलैंड के बासेल में हुई विश्व चैम्पियनशिप में स्वर्ण पदक जीता था। वह इससे पहले दो बार विश्व चैम्पियनशिप के फाइनल में पहुंची थी। 

24 साल की सिंधु ने 2016 में चीन ओपन का खिताब जीता था और इस बार वह पूर्व ओलम्पिक स्वर्ण पदक विजेता और दुनिया के नंबर एक खिलाड़ी चीन की ली शुररुई के खिलाफ होने वाले मुकाबले से अपने अभियान की शुरुआत करेंगी। 

विश्व मुक्केबाजी चैम्पियनशिप : पंघल सहित 4 भारतीयों की नजर क्वार्टर फाइनल पर

सिंधु ने 2012 में चीन ओपन में तत्कालीन ओलंपिक चैंपियन शुररुई को हराकर सुर्खियां बटोरी थी। चीन की दुनिया की 20वें नंबर की खिलाड़ी शुररुई ने सिंधु के खिलाफ अब तक छह मुकाबलों में से तीन में जीत दर्ज की है, जबकि तीन में उन्हें हार का सामना करना पड़ा। सिंधु अगर पहले दौर की बाधा पार करती हैं तो उन्हें कनाडा की मिशेल ली से भिड़ना पड़ सकता है जो 2014 से इस भारतीय खिलाड़ी को हराने में नाकाम रही हैं। सिंधु अगर आगे बढ़ी तो क्वॉर्टर फाइनल में उनका सामना चीन की तीसरी वरीय और ऑल इंग्लैंड चैंपियन चेन यूफेई से हो सकता है।

सिंधु के अलावा सायना नेहवाल भी चोट से उबरने के बाद अपना शानदार प्रदर्शन करना चाहेंगी। सायना को पहले दौर में थाईलैंड की बुसानन ओंगबामरुंगफान से भिड़ना है जबकि क्वार्टर फाइनल में उनकी भिड़ंत दुनिया की पूर्व नंबर एक चीनी ताइपे की ताइ जू यिंग से हो सकती है। पुरुष वर्ग में भारत को किदांबी श्रीकांत और एचएस प्रणॉय की कमी खलेगी। श्रीकांत को घुटने में चोट है जबकि प्रणॉय को डेंगू है। 

विश्व चैम्पियनशिप में 36 साल बाद पदक जीतने वाले भारतीय पुरुष खिलाड़ी बने बी साई प्रणीत पहले दौर में थाईलैंड के सुपान्यु अविहिंगसेनोन की चुनौती का सामना करेंगे। सात्विकसाईराज रेंकीरेड्डी और चिराग शेट्टी की पुरुष युगल जोड़ी को पहले दौर में जेसन एंथोनी हो शुइ और नाइ याकुरा की कनाडा की जोड़ी से खेलना है। 

विश्व कुश्ती चैम्पियनशिप: तीसरे दिन गुरप्रीत सिंह से काफी उम्मीदें 

मिश्रित युगल में सात्विक और अश्विनी पोनप्पा तथा एन सिक्की रेड्डी और प्रणव जैरी चोपड़ा की जोड़ी भी चुनौती पेश करेंगी। पुरुष युगल में मनु अत्री और बी. सुमित रेड्डी जबकि महिला युगल में अश्विनी और एन सिक्की रेड्डी की जोड़ी भारतीय चुनौती पेश करेंगी।