पीवी सिंधु और बी साई प्रणीत ने बीडब्ल्यूएफ विश्व चैम्पियनशिप 2019 के सेमीफाइनल में पहुंचकर भारत के दो पदक पक्के कर लिए हैं। सिंधु ने क्वार्टर फाइनल में दूसरी वरीयता प्राप्त चीनी ताइपे की तेइ-झू-यिंग को हराकर सेमीफाइनल में जगह पक्की की। इसके साथ सिंधु ने इस प्रतिष्ठित टूर्नामेंट में अपना पांचवां पदक पक्का कर लिया है। वह इससे पहले इस टूर्नामेंट में दो रजत और दो कांस्य पदक जीत चुकी हैं। सिंधु फाइनल में चीन की चेन यू फेइ और डेनमार्क की मिया ब्लिचफेल्ट के बीच होने वाले एक अन्य क्वार्टर फाइनल की विजेता से भिडेंगी।

साई प्रणीत से पहले प्रकाश पादुकोण ने 1983 में जीता था कांस्य पदक
वहीं, बी साई प्रणीत ने इंडोनेशिया के जोनाथन क्रिस्टी पर सीधे गेम में  24-22, 21-14 से हराकर सेमीफाइनल में प्रवेश किया और इस तरह से उन्होंने विश्व बैडमिंटन चैंपियनशिप के पुरूष एकल में पदक का पिछले 36 साल का इंतजार खत्म कर दिया। इस साल अर्जुन पुरस्कार के लिए चुने गए प्रणीत ने क्वार्टर फाइनल में एशियाई खेलों के स्वर्ण पदक विजेता और विश्व में चौथे नंबर के खिलाड़ी जोनाथन को आसानी से हराकर इस प्रतिष्ठित टूर्नामेंट में अपने लिए पदक पक्का किया। दिग्गज बैडमिंटन खिलाड़ी प्रकाश पादुकोण इस प्रतियोगिता में पुरुष एकल में पदक जीतने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी थे। उन्होंने 1983 विश्व चैंपियनशिप में कांस्य पदक जीता था।

#FeelingCheated BWF World ChampionShip 2019 से बाहर होने के बाद सायना नेहवाल ने कुछ ऐसे ट्विटर पर निकाली भड़ास

सभी खेलों से जुड़े समाचार पढ़ें सबसे पहले Metro CIty Samachar पर। अपने मोबाइल पर Metro CIty Samachar पढ़ने के लिए डाउनलोड करें हमारा न्यूज एप। और देश-दुनिया की हर खबर से रहें अपडेट।