अगर आपको छप्पर फाड़ के धन पाने की इच्छा हो तो इस शुक्रवार बन रहा हैं शुक्रवारी चैत्र अमावस्या का दुर्लभ महायोग, इस दिन रात में नीचे दिये गये महाशक्तिशाली उपायों में से सभी या कोई एक अमावस्या की रात में 10 बजे के बाद स्नान करने के बाद पूजा स्थल पर एक घी का दीपक जलाकर कर लें । कुछ ही दिन में ये उपाय बना देगा आपको महाकरोड़पति ।

 

चैत्र मास की अमावस्या शुक्रवार 5 अप्रैल को हैं- धन प्राप्ति के लिए जरूर करें ये महाशक्तिशाली उपाय-

– श्री आदि लक्ष्मी के इस मूल मंत्र- ॐ श्रीं का जप 1100 बार करें ।
– श्री धान्य लक्ष्मी के इस मंत्र ॐ श्रीं क्लीं का एक हजार बार जप करने से जीवन में धन और धान्य भरपूर मिलता हैं ।
– श्री धैर्य लक्ष्मी – ये जीवन में आत्मबल और धैर्य को संबोधित करती है तथा इनका मूल मंत्र है – ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ।।
– श्री गज लक्ष्मी – ये जीवन में स्वास्थ और बल को संबोधित करती है तथा इनका मूल मंत्र है – ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ।।
– श्री संतान लक्ष्मी – ये जीवन में परिवार और संतान को संबोधित करती है तथा इनका मूल मंत्र है – ॐ ह्रीं श्रीं क्लीं ।।
– श्री विजय लक्ष्मी यां वीर लक्ष्मी – ये जीवन में जीत और वर्चस्व को संबोधित करती है तथा इनका मूल मंत्र है – ॐ क्लीं ॐ ।।
– श्री विद्या लक्ष्मी – ये जीवन में बुद्धि और ज्ञान को संबोधित करती है तथा इनका मूल मंत्र है – ॐ ऐं ॐ ।।
– श्री ऐश्वर्य लक्ष्मी – ये जीवन में प्रणय और भोग को संबोधित करती है तथा इनका मूल मंत्र है – ॐ श्रीं श्रीं ।।

 

ऐसे करें पूजन
– इनकी पूजा रात 10 बजे से 12 बजे के बीच होती है ।
– इनकी पूजा हमेशा गुलाबी कपड़े पहनकर और गुलाबी आसन पर बैठकर ही करें ।
– गुलाबी कपड़े पर श्री यत्र और अष्ट लक्ष्मी की तस्वीर स्थापित करें ।
– किसी भी थाली में गाय के घी के 8 दीप जलाएं ।
– गुलाब के सुगंध की अगरबत्ती जलाएं और लाल फूल और लाल माला चढ़ाएं ।
– कमल गट्टे की माला हाथ में लेकर ‘ऐं ह्रीं श्रीं अष्टलक्ष्मीयै ह्रीं सिद्धये मम गृहे आगच्छागच्छ नम: स्वाहा ।।

****************

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here