एलएलएम छात्रा के यौन शोषण के आरोपों से घिरे स्वामी चिन्मयानंद पर एसआईटी का शिकंजा कसता जा रहा है। गुरुवार रात 1:30 बजे तक पूछताछ के बाद स्वामी को छोड़कर एसआईटी ने साढ़े तीन बजे उनके मुमुक्षु आश्रम स्थित दिव्य धाम का शयनकक्ष सील कर दिया था। स्वामी को सोने के लिए दूसरा कमरा दिया गया था। हालांकि शुक्रवार रात शयनकक्ष खोल दिया गया। जांच पूरी होने तक स्वामी जिले से कहीं बाहर नहीं जा सकेंगे।

एसएस लॉ कॉलेज के सीसीटीवी कैमरे हर राज खोलेंगे। छात्रा ने आरोप लगाया कि उसके हॉस्टल के कमरे में रखे सामान से छेड़छाड़ की गई। कई आपत्तिजनक चीजें वहां रख दी गईं। छात्रा ने सीधे तौर पर आरोप स्वामी चिन्मयानंद पर लगाया कि उन्होंने ही साजिशन ऐसा कराया। अगर ऐसा हुआ है तो उसका राजफाश हो जाएगा, क्योंकि एसएस लॉ कालेज में और एसएस कालेज में चप्पे-चप्पे पर सीसीटीवी कैमरे लगे हैं। छात्रा के पिता की ओर से स्वामी चिन्मयानंद के खिलाफ 27 अगस्त को मुकदमा दर्र्ज किया गया था। इसके बाद पुलिस ने हॉस्टल में छात्रा के कमरे को सील कर दिया था। इस बीच छात्रा ने मीडिया को बताया था कि उसके हास्टल के रूम में स्वामी के खिलाफ अहम सबूत रखे हैं। जब एसआईटी ने कमरा खोला तो वहां वह सामान मिला, जो छात्रा ने बताया था। छात्रा का कैमरे वाला चश्मा, रिकार्डर, चिप, बैग वहां नहीं था।

आश्रम की शिक्षण संस्थाएं तीन दिनों के लिए बंद : जांच के चलते मुमुक्षु आश्रम की शिक्षण संस्थाओं को तीन दिन के लिए बंद कर दिया गया है। शुक्रवार को संजय और आरोप लगाने वाली लड़की आमना सामना कराया गया। एसआईटी और फोरेंसिक टीम के साथ शुक्रवार को दोपहर करीब साढ़े बारह बजे मुमुक्षु आश्रम में गई। वहां फोरेंसिक टीम ने दिव्य धाम की बारीकी की जांच की। यहां तक कि कारपेट तक पलट कर देखा गया। खिड़कियां के पर्दर्े हटा कर जांच की गई। कमरों में किताबों को हटा कर देखा गया, साथ ही स्वामी चिन्मयानंद के शयन कक्ष के बिस्तर को भी फोरेंसिक टीम ने उठा कर देखा।

कई घंटे दिव्य धाम में रही एसआईटी : फोरेंसिक टीम कई घंटे तक दिव्य धाम में रही। इस दौरान छात्रा भी एसआईटी टीम के साथ वहां मौजूद रही। बताया जाता है कि छात्रा ने दिव्य धाम में कहां क्या मिल सकता है, वह एसआईटी को बताया । उधर, वकील ओम सिंह ने जानकारी दी कि एसआईटी ने एक तेल की कटोरी कब्जे में ली है। हालांकि उसमें तेल नहीं था।

वकील को बाहर रोक सिर्फ स्वामी से पूछताछ : लगातार आठ घंटे पूछताछ में स्वामी चिन्मयानंद के साथ उनके वकील भी मौजूद रहे लेकिन एसआईटी ने उन्हें बाहर ही रोककर सिर्फ स्वामी से की पूछताछ की। रात्रि 1:30 बजे बाहर एसआईटी निकली और साढ़े तीन बजे कमरा सील किया था। पढ़ें

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा, पुलिस सुस्त है, क्योंकि आरोपी का संबंध भाजपा से है। भाजपा सरकार ने अपनी हरकतों से साफ कर दिया है कि उसका महिला सुरक्षा से कोई वास्ता नहीं। आखिर क्यों शिकायतकर्ता लड़की को दोबारा प्रेस के सामने सुरक्षा की गुहार लगानी पड़ रही है?

चिन्मयानंद को बचा रही, आजम को फंसा रही सरकार : अखिलेश बरेली। पूर्व मुख्यमंत्री व सपा मुखिया अखिलेश यादव ने कहा कि सरकार यौन उत्पीड़न के आरोपों में फंसे चिन्मयानंद को बचा रही है और आजम को बेवजह फंसाने का काम कर रही है। आजम पर भैंस और बकरी चोरी जैसे केस दर्ज किए जा रहे हैं। अखिलेश फरीदपुर में पूर्व विधायक डॉ. सियाराम सागर को श्रद्धांजलि देने आए थे।