मुंबई में आम लोगों खासकर वर्किंग क्लास के लिए लंच की सप्लाइ करने वाले डब्बावाले दो दिन की छुट्टी पर हैं। मुंबई डब्बावाला असोसिएशन की ओर से इस संबंध में एक बयान जारी करते हुए कहा गया है कि मुंबई में 12 और 13 जुलाई को टिफिन सप्लाइ का काम नहीं किया जाएगा। डब्बा वालों के इस ऐलान के बाद पहले दिन मुंबई के तमाम लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा है।

मुंबई डब्बावाला असोसिएशन के अध्यक्ष सुभाष तालेकर ने शुक्रवार सुबह मीडिया से बात करते हुए कहा था कि 12 और 13 जुलाई को मुंबई में टिफिन्स की सप्लाइ नहीं की जाएगी। उन्होंने बताया कि मुंबई के सभी डब्बावाले इन दो दिनों के दौरान आषाढ़ एकादशी के अवसर पर आयोजित होने वाली मशहूर पंढरपुर शोभायात्रा में शामिल होंगे।

सीएम फडणवीस ने किया पारंपरिक पूजन 
महाराष्ट्र में आषाढ़ी एकादशी का पर्व एक पारंपरिक आयोजन के रूप में धूमधाम से मनाया जाता है। इस अवसर पर पंढरपुर के विट्ठल मंदिर में विशेष पूजन भी किया जाता है। इससे पूर्व गुरुवार को राज्य के सीएम देवेंद्र फडणवीस ने भी अपनी पत्नी के साथ विट्ठल मंदिर में विधि-विधान से पूजन किया था। 

रोज पहुंचाए जाते हैं करीब दो लाख लंच बॉक्स 
बता दें कि लगभग पांच हजार डब्बावाले मुंबई के ऑफिसों में लगभग दो लाख लंच बॉक्स हर दिन पहुंचाते हैं। डब्बावाले अपनी त्रुटिहीन वितरण प्रणाली के लिए जाने जाते हैं, जिसका अध्ययन वैश्विक प्रबंधन विशेषज्ञों द्वारा किया गया है। मुंबई डब्बावाला असोसिएशन एक ‘रोटी बैंक’ भी चलाता है, जिसके माध्यम से सरकार द्वारा संचालित टाटा मेमोरियल अस्पताल, केईएम अस्पताल और वाडिया अस्पताल में इलाज कराने के लिए आए मरीजों के परिजनों को मुफ्त भोजन दिया जाता है।