नई दिल्ली
इंडियन आर्मी के पर्वतारोहण दल ने सफलतापूर्वक मकालू चोटी फतह कर ली है। गुरुवार सुबह 10 बजकर 50 मिनट में यह अभियान दल चोटी पर पहुंचा। हालांकि तबीयत खराब होने की वजह से टीम लीडर मेजर मनोज जोशी चोटी पर नहीं पहुंच सके। इंडियन आर्मी की इस पर्वतारोही टीम ने अपने इस अभियान के दौरान रहस्यमयी हिममानव ‘येति’ के पैरों के निशान देखने का दावा किया था, जिसके बाद इसकी चर्चा पूरी दुनिया में होने लगी। मकालू दुनिया की पांचवीं सबसे ऊंची चोटी है।

यह टीम गुरुवार को चोटी पर पहुंची और उम्मीद है कि शुक्रवार को यह टीम वापस अडवांस बेस कैंप पहुंच जाएगी। इंडियन आर्मी के अभियान दल के साथ नेपाल आर्मी के लाइजन ऑफिसर भी हैं जिन्होंने पुष्टि की कि इंडियन आर्मी का यह दल गुरुवार सुबह सफलतापूर्वक चोटी पर पहुंचा। इंडियन आर्मी का यह पहला पर्वतारोही दल है जिसने यह चोटी फतह की है। इस पर्वतारोही दल में इंडियन आर्मी के 5 अधिकारी, 2 जेसीओ और 11 जवान शामिल हैं।

indian army sights mysterious footprints of mythical beast yeti near makalu base camp tweets photo
हिममानव? सेना ने ट्वीट की विशालकाय पैरों के निशान वाली तस्वीरें
Loading

8,485 मीटर ऊंची इस माउंट मकालू चोटी के लिए पहले इंडियन आर्मी पर्वतारोहण अभियान को 26 मार्च को इंडियन आर्मी के डीजी मिलिट्री ट्रेनिंग ने झंडा दिखाकर रवाना किया। इंडियन आर्मी ने 8,000 मीटर से ऊंची सभी चुनौतीपूर्ण चोटियों को चढ़ने के मकसद से इस अभियान को शुरू किया। माउंट मकालू को सबसे खतरनाक चोटियों में से एक माना जाता है और मौसम की मार और कपकपाने वाली ठंड की वजह से इसे फतह करना चुनौतीपूर्ण माना जाता है। यह चोटी पर्वतारोहियों की तकनीकी सूझबूझ, मानसिक और शारीरिक साहस और संकल्प की परीक्षा लेती है। इंडियन आर्मी की टीम को इस अभियान के लिए 6 महीनों का कड़ा प्रशिक्षण दिया गया था।

दुनिया भर में इंडियन आर्मी की यह टीम उस वक्त चर्चा में आई जब इंडियन आर्मी ने दावा किया कि इस टीम ने हिम मानव ‘येति’ के पैरों के निशान देखे हैं। 29 अप्रैल की रात को इंडियन आर्मी के ऑफिशियल ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया कि पहली बार भारतीय सेना की एक पर्वतारोही टीम ने मकालू बेस कैंप के पास 32×15 इंच वाले रहस्यमयी हिममानव ‘येति’ के पैरों के निशान देखे हैं। यह मायावी स्नोमैन इससे पहले केवल मकालू-बरुन नैशनल पार्क में देखा गया है।’ इसके साथ ही आर्मी की तरफ से पर्वतारोही दल के अलावा हिममानव के कथित फुटप्रिंट की फोटो भी शेयर की गई, जो रातों-रात दुनिया भर में वायरल हो गई और ‘येति’ के होने या न होने को लेकर चर्चाएं तेज हो गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here