सत्यार्थी ने पोप से मुलाकात कर डिजिटल बाल यौन शोषण पर नए कानून पर समर्थन मांगा

नोबेल शांति पुरस्कार से सम्मानित कैलाश सत्यार्थी ने शुक्रवार को पोप फ्रांसिस से मुलाकात की और बाल यौन उत्पीड़न के तमाम उभरते डिजिटल एवं ऑनलाइन रूपों के खिलाफ एक नए कानूनी रूप से बाध्यकारी अंतरराष्ट्रीय कानून पर उनका समर्थन चाहा.

सत्यार्थी ने कैथोलिक चर्च के प्रमुख के साथ एक मुलाकात के दौरान कहा कि प्रस्तावित कानून के लिए देश की सीमा से बाहर के न्यायक्षेत्र का प्रावधान बिल्कुल अनिवार्य है क्योंकि ऑनलाइन अपराध देश की सीमाएं लांघ कर हो रही हैं.

सत्यार्थी इसपर समर्थन जुटाने के लिए जाति, धर्म, नस्ल, राजनीतिक मान्यताओं और राष्ट्रीयता से इतर सभी पक्षकारों से मुलाकात कर रहे हैं. उन्होंने इस बाबत सभी राज्याध्यक्षों को पत्र भी लिखे हैं.

पोप ने फरवरी 2019 में दुनिया भर के कैथोलिक बिशपों के अध्यक्षों को बुलाया है जिसमें बच्चों को बचाने और उन्हें पादरियों के हाथों यौन उत्पीड़न रोकने के तरीकों पर चर्चा की जाएगी. यह बैठक इस पृष्ठभूमि में हुई.

सत्यार्थी ने पोप के हवाले से कहा कि पोप का जवाब था कि यह निश्चित रूप से ‘व्यावहारिक बैठक होगी और व्यावहारिक समाधान वाली होगी.’





LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here