मसूद अजहर ने अपने कॉलम में एयरस्ट्राइक को असफल बताया, फिटनेस के मामले में पीएम मोदी को दी चुनौती

4

नई दिल्ली। पुलवामा हमले के दोषी जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर ने भारतीय एयरस्ट्राइक को असफल बताया है। उसने कहा है कि इस हमले में एलओसी पर कोई भी नुकसान नहीं हुआ है। उसके सभी समर्थक जिंदा और सुरक्षित हैं। इसके साथ वह खुद भी स्वास्थ्य है। गौरतलब है कि पाकिस्तान के विदेश मंत्री महमूद कुरैशी ने बीते दिनों अपने एक बयान में कहा था कि मसूद अजहर एक अस्पताल में भर्ती है और वह अपना इलाज करा रहा है। कुरैशी ने कहा था कि वह काफी बीमार है और उसका बिस्तर से भी उठना कठिन है। इस बयान के बाद माना जा रहा था कि मसूद अब कुछ ही दिनों का मेहमान रह गया है। शनिवार को जैश-ए-मोहम्मद के मुख्यपत्र अल-क्लाम में अपने लेख में यह जानकारी दी है। उसका कहना है कि वह अब बिल्कुल स्वस्थ्य हैं।

कश्मीरी युवक आदिल डार ने बहुत बेहतरीन काम किया

इस अखबार में मसूद ने अपने कॉलम में लिखा है कि उसके समर्थक अभी भी उसके साथ हैं।उसने कहा कि पुलवामा हमले में कश्मीरी युवक आदिल डार ने बहुत बेहतरीन काम किया। इस हमले में 40 सीआरपीएफ जवानों की मौत हो गई थी। उसने अपने कॉलम में अफगानिस्तान पर भी चर्चा की। अजहर ने लिखा कि इस क्षेत्र की स्थिति गंभीर है और यहां जो हो रहा है उस पर ध्यान देना जरूरी है।

पीएम मोदी को दी चुनौती

अपने स्वास्थ्य के बारे में अजहर ने कहा कि यह एक ऐसा विषय था जिस पर वह आम तौर पर बात करने के लिए अनिच्छुक थे, लेकिन उनके खिलाफ प्रचार को देखते हुए, उन्हें अपनी व्यक्तिगत स्थिति के बारे में लिखने के लिए मजबूर होना पड़ा। उन्होंने दावा किया कि वह फिट और ठीक हैं। उनकी किडनी और लिवर पूरी तरह से ठीक है। उन्होंने कहा कि 17 साल से वह कभी अस्पताल नहीं गए थे। उसने कई सालों तक डॉक्टर से सलाह नहीं ली थी। मसूद ने कहा कि कुरान से प्रेरित आहार ने उन्हें उच्च रक्तचाप और मधुमेह जैसी बीमारियों के चंगुल से मुक्त किया है। चिंता की कोई बात नहीं है। उसने अपने खाली क्षणों में तीरंदाजी का अभ्यास किया। पीएम नरेंद्र मोदी पर टिप्पणी करते हुए उसने मैं वह तरह से फिट हैं। उसने लिखा वह मोदी को खेल या तीरंदाजी या शूटिंग प्रतियोगिता के लिए चुनौती देते हैं। मसूद ने लिखा कि वह मोदी की तुलना में अधिक फिट है।