दुनियाभर की महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाना है

11

अमरीकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप की बेटी और व्हाइट हाउस की सलाहकार इवांका ट्रंप ने दुनियाभर की पांच करोड़ महिलाओं को गरीबी से निकालने के लिए वर्ष 2025 तक 3.54 अरब रुपए देने की घोषणा की है। इवांका इससे पहले विश्व बैंक की मदद से महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए काम कर चुकी हैं। इवांका के इस फैसले पर व्हाइट हाउस ने कहा है कि इसपर विचार होगा क्योंकि महिलाओं के उत्थान से उसका भी सरोकार है।

इवांका ने कहा है कि पैसा महिलाओं के सर्वागीण और सामाजिक विकास के लिए है जिससे वे समाज में कंधे से कंधा मिलाकर चल सकें। वे चाहती हैं कि महिलाएं वैश्विक स्तर पर दुनिया में अपने नेतृत्व क्षमता बढ़ाए जिससे उन्हें नई पहचान मिले। इस मिशन को सफल बनाने के लिए अमरीका ने कुछ निजी कंपनियों से करार किया है।

मिशन को लेकर चिंता इस बात की है कि व्हाइट हाउस से जारी होने वाली सहायता राशि यूएस एजेंसी फॉर इंटरनेशनल डेवलपमेंट के तहत दी जाती है लेकिन राष्ट्रपति टं्रप इस मद में लगातार कटौती कर रहे हैं जिससे विश्लेषक थोड़ा पशोपेश की स्थिति में हैं। वहीं दूसरी ओर इतनी बड़ी संख्या में महिलाओं की मदद के लिए 3.54 अरब की राशि को लेकर लोग आलोचना कर रहे हैं। सेंटर फार ग्लोबल डेवलपमेंट के रिसर्च फेलो चाल्र्स केनी ने ट्विटर पर लिखा है कि जो राशि तय की है उस आधार पर एक महिला के हिस्से में साल में एक बार एक डॉलर करीब 70 रुपए मिलेगा जिसे बढ़ाना होगा।

वाशिंगटन पोस्ट से विशेष अनुबंध के तहत