चीन की 'क्वीन ऑफ आइवरी' तंजानिया में दोषी करार, मिली 15 की सजा

6

दोदोमा। चीन की एक महिला को तंजानिया में जेल की सजा सुनाई गई है। जानकारी मिल रही है कि अफ्रीका के कुख्यात तस्करों में से एक माने जाने वाली चीन की इस महिला को 15 साल की सजा सुनाई गई है। इस बारे में वहां के अधिकारियों ने जानकारी दी है। चीन की इस महिला को ‘क्वीन ऑफ आइवरी’ के रूप में भी जाना जाता है।

तस्करी किए गए दांतों की कीमत 64.5 लाख डॉलर

मंगलवार को तंजानिया की अदालत में सुनवाई के दौरान 70 वर्षीय यांग फेंग ग्लान को हाथी दांतों की तस्करी का दोषी बताया गया। इसके साथ ही तंजानिया की सालिवियस फ्रांसिस माटेम्बो और मैनास जूलियस फिलेमन जो यांग के सह-आरोपी हैं उन्हें भी इनके साथ सजा सुनाई गई। अधिकारियों का कहना है कि तस्करी किए गए दांतों की कीमत 64.5 लाख डॉलर बताई है।

2015 में यांग की हुई थी गिरफ्तारी

आपको बता दें कि तंजानिया के सार्वजनिक अभियोजन के निदेशक ने यांग पर पूर्वी अफ्रीका और चीन के बीच एक सप्लाई चेन चलाने का आरोप लगाया। वह दुनिया भर में हाथी दांत पहुंचाने के लिए चीनी और तंजानियाई अभिजात वर्ग के साथ संबंध होने का फायदा उठाती थी। गौरतलब है कि यांग को 28 सितंबर, 2015 को दार अस-सलाम में गिरफ्तार किया गया था। यांग 1975 में तंजानिया में एक चीनी कंपनी के अनुवादक के रूप में आई थी। गिरफ्तारी से पहले उसने तंजानिया-चीन अफ्रीका व्यापार परिषद की जनरल सेक्रेटरी के रूप में भी काम किया था।