पुलवामा अटैक: भारत के डर से खौफ में हैं पाकिस्तानी आतंकी, दो दिन से नहीं है कोई हलचल

8

लाहौर। पुलवामा हमले के बाद भारत की कड़ी प्रतिक्रिया के डर से पाकिस्तानी आतंकी खौफ में हैं। खुफिया एजेंसियों की जानकारी के अनुसार गुरुवार को हुए आतंकी हमले के बाद से आतंकवादियों और उनके संचालकों के बीच रेडियो संचालन पूरी तरह बंद है। पुलवामा आतंकी हमले के मद्देनजर भारतीय पक्ष से मजबूत जवाबी कार्रवाई का अंदेशा होने पर पाकिस्तान स्थित आतंकी पूरी तरह अंडरग्राउंड हो गए हैं।

खौफ में पाकिस्तानी आतंकी

खुफिया एजेंसियों ने जानकारी दी है कि हमले के बाद सीमा पार के पाकिस्तानी आतंकी एकदम से शांत हो गए हैं। एजेंसियों का कहना है कि आतंकियों और उनके आकाओं को इस बात का भय है कि भारत एक और सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम दे सकता है। इस डर से आतंकी पूरी तरह भूमिगत हो गए हैं। सीमा पर उनकी कोई भी हलचल दिखाई नहीं दे रही है। यहां तक कि आतंकियों के बीच आमतौर पर होने वाला रेडियो संचार भी बंद है। आपको बता दें कि गुरुवार को दक्षिण कश्मीर के पुलवामा में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) के काफिले में एक जैश-ए-मोहम्मद (JeM) के आतंकवादी द्वारा एक विस्फोटक से भरी कार से हमला किए जाने की बाद 40 से अधिक सुरक्षाकर्मियों की जान चली गई और कई अन्य घायल हो गए थे।

हमले के विरोध में तीखी प्रतिक्रिया

भारत में इस हमले को लेकर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने पहले हमले पर रोष व्यक्त किया और कहा कि अपराधियों पर कायरतापूर्ण हमले के लिए भारी कीमत चुकानी पड़ेगी। भारत ने पाकिस्तान के राजदूत सोहेल महमूद को तलब कर कायरतापूर्ण कार्रवाई के खिलाफ विरोध व्यक्त किया। भारत ने पाकिस्तान को दिए गए ‘मोस्ट फेवर्ड नेशन’ का दर्जा वापस लेने का भी फैसला किया है। कई विदेशी राष्ट्रों ने भी भारत के साथ अपना समर्थन व्यक्त किया है।अमरीका, रूस, फ्रांस, जर्मनी, श्रीलंका, नेपाल, इजरायल और बांग्लादेश सहित अंतर्राष्ट्रीय समुदाय ने भारतीय सुरक्षाकर्मियों पर हमले की निंदा की है ।