दाऊद की डी कंपनी आपराधिक सिंडिकेट से आतंकी नेटवर्क में बदली: भारत

0
10

भारत ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) में अंडर वर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम का मुद्द उठाया है। भारत ने कहा कि पाकिस्तान में मौजूद अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम का आपराधिक सिंडिकेट आतंकवादी नेटवर्क में बदल गया है। इसके साथ ही भारत ने डी कंपनी, जैश-ए-मोहम्मद और लश्कर-ए-तैयबा से पैदा हो रहे वास्तविक खतरों से निपटने के लिए सख्त कार्रवाई की बात कही।

संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि सैयद अकबरुद्दीन ने मंगलवार को अंतरराष्ट्रीय शांति एवं सुरक्षा को खतरा: अंतरराष्ट्रीय आतंकवाद और संगठित अपराध के बीच संबंध विषय पर सुरक्षा परिषद की बहस में ये बाते कहीं।

अकबरुद्दीन ने कहा कि डी कंपनी की गैरकानूनी आर्थिक गतिविधियां दूसरी जगहों पर भले ही बहुत कम हों, लेकिन हमारे क्षेत्र में यह बड़े पैमाने पर हैं। दाऊद हमारे क्षेत्र में सोने की तस्करी, फेक करेंसी और हथियार और ड्रग्स की तस्करी जैसे गैरकानूनी काम करता है। यही असली और वर्तमान खतरा है। 

अकबरुद्दीन ने कहा कि आपराधिक समूह आतंकवादियों के साथ हाथ मिला रहे हैं और जालसाजी, अवैध वित्तपोषण, हथियारों की सौदागरी, नशीले पदार्थों की तस्करी और आतंकवादियों को सीमा पार ले जाने जैसी सेवाएं मुहैया करा रहे हैं। 

लश्कर और जैश की तरह डी-कंपनी बड़ा खतरा

अकबरुद्दीन ने कहा कि आतंकी संगठन आईएस के खिलाफ सफलता साबित करती है कि यदि हम सभी मिलकर कार्रवाई करें तो परिणाम अच्छे मिलते हैं। उन्होंने लश्कर और जैश की तरह ही दाऊद इब्राहिम की आपराधिक डी-कंपनी भी बड़ा खतरा है। सभी पर धारा 1267 के तहत कार्रवाई की जानी चाहिए। 

कराची में छिपा है दाऊद

पिछले सप्ताह ब्रिटेन की एक कोर्ट में सुनवाई के दौरान अमेरिकी संघीय एजेंसी (एफबीआई) ने बताया था कि 1993 में मुंबई हमलों का वांछित दाऊद इब्राहिम पाकिस्तान के कराची में छिपा है। इसके बाद पाकिस्तान ने कहा था कि दाऊद इब्राहिम पाकिस्तान में नहीं है। वहीं भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा है कि पाकिस्तान का दाऊद की मौजूदगी से इनकार करना उसके दोहरे मापदंडों को दर्शाता है। 

पाकिस्तानी न्यूज एंकर की गोली मारकर हत्या, सामने आई निजी वजह

डोनाल्ड ट्रम्प ने पेरिस जलवायु समझौते को बताया ‘बेअसर’