संयुक्त राष्ट्र। मसूद अजहर मामले पर भारत का साथ देने वाले यूरोपीय देश फ्रांस एक बार फिर भारत के साथ खड़ा नजर आ रहा है। फ्रांस ने भारत को UNSC में स्थाई सदस्य्ता देने का एक बार फिर पुरजोर समर्थन किया है। यूएनएससी में फ्रांस के स्थायी प्रतिनिधि ने कहा है कि भारत को जल्द से जल्द सुरक्षा परिषद में सदस्य्ता देने की जरुरत है।

चकनाचूर हुआ पाकिस्तान का सपना, समंदर का कोना-कोना छान मारा लेकिन नहीं मिला तेल

भारत की स्थायी सदस्यता का समर्थन

यूएनएससी में फ्रांस के प्रतिनिधि ने कहा कि ‘हमारा मानना है कि कुछ प्रमुख सदस्यों को जोड़ने के साथ सुरक्षा परिषद को उचित विस्तार देना ‘हमारी रणनीतिक प्राथमिकताओं में से एक है।’ फ्रांस ने इसके साथ ही ब्राजील और दक्षिण अफ्रीका को सुरक्षा परिषद् में जगह देने का एलान किया। फ्रांस ने यह भी कहा कि भारत, जर्मनी, ब्राजील और जापान जैसे देशों को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में उचित जगह मिलने से इसकी वैधता को और भी बल मिलेगा। फ्रांसीसी प्रतिनिधि फांस्वा डेलातरे ने कहा कि इन देशों को स्थायी सदस्यों के तौर पर शामिल करने की बहुत जरूरत है।

क्या है मसूद अजहर पर बैन की कहानी, क्यों चीन ने बदले अपने सुर

भारत के लिए अहम ऐलान

संयुक्त राष्ट्र में फ्रांस के स्थायी प्रतिनिधि फांस्वा डेलातरे ने मीडिया ब्रीफिंग में कहा, “फ्रांस एवं जर्मनी की नीति बहुत स्पष्ट है। ये दोनों देश सुरक्षा परिषद के विस्तार के लिए दृढ संकल्प है।” उन्होंने कहा कि दुनिया के इन देशों के सुरक्षा परिषद में शामिल होने से उसका दायरा बढ़ेगा। विश्व को बेहतर बनाने के लिए इस तरह के कदम जल्द से जल्द उठाने की जरुरत है। संयुक्त राष्ट्र में जर्मनी के दूत क्रिस्टोफ ह्यूसगन के साथ एक साझा घोषणा पत्र पर बोलते हुए फ्रांसीसी प्रतिनिधि डेलातरे ने बताया कि फ्रांस मानता है कि जर्मनी, जापान, भारत, ब्राजील और दक्षिण अफ्रीका का उचित प्रतिनिधित्व सुरक्षा परिषद के लिए बहुत जरूरी है।”

विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर..

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here