दुनिया के सबसे अमीर शख्स को पीछे छोड़ेंगे एशियाई धनकुबेर मुकेश अंबानी, ऐसे कर रहे हैं तैयारी

7

नई दिल्ली। सबसे अमीर एशियाई और रिलायंस इंडस्ट्रीज के मुखिया मुकेश अंबानी जियो के बाद रिटेल कारोबार में भी अपना सिक्का जमाने की तैयारी में जुट गए हैं। रिलायंस रिटेल को बड़े स्तर पर फैलाने के लिए मुकेश अंबानी लगातार स्टार्टअप्स से पार्टनरशिप करने में लगे हुए हैं। इसी सिलसिले में अब उन्होंने दो नए स्टार्टअप का अधिग्रहण करने का प्लान बनाया है। इन दोनों स्टार्टअप्स में से एक का नाम ग्रैब ए ग्रब है वहीं दूसरे का नाम सी-स्क्वैयर इन्फो सॉल्युशन्स है जो कि सॉफ्टवेयर सर्विस फर्म है।

यह भी पढ़ें – एलपीजी कन्वर्जन किट पर 28 फीसदी से घटाकर 5 फीसदी किया जाए जीएसटी, सरकार से की गई मांग

पिछले ही तीन स्टार्टअप्स का किया था अधिग्रहण

करीब एक सप्ताह पहले ही रिलायंस इंडस्ट्रीज ने तीन स्टार्टअप्स के अधिग्रहण के लिए अग्रीमेंट किया था। इनमें भाषा क्षेत्रीयकरण पर काम करने वाला प्लेटफार्म रिवरी लैंग्वेज टेक्नोलॉजी है, दूसरा ईजीगोव है और तीसरी सॉफ्टवेयर सिमुलेशन कंपनी संख्यसुत्र लैब्स है। कंपनी ने इसके बारे में नियामकीय फाइलिंग में जानकारी दे दी है।

यह भी पढ़ें – सुप्रीम कोर्ट ने दिया आदेश, अब इतनी कम हो जाएगा आप सबकी सैलरी

भारत के रिटेल बाजार में कायम करना चाहते है अपना बादशाहत

गौरतलब है कि भारत के 36 अरब डॉलर के ई-कॉमर्स बाजार में रिलायंस रिटेल को मुकेश अंबानी तेजी से फैलाना चाहते हैं। गत जनवरी माह में गुजरात में एक इंटरव्यू में अंबानी ने घोषणा किया था कि बहुत जल्द वो ई-कॉमर्स वेंचर लॉन्च करने जा रहे हैं। गत दिसंबर माह में ही रिलायंस ने ब्लॉकचेन स्टार्टअप वक्त होल्डिंग्स में कुछ स्टेक खरीदा था। पिछले साल आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस पर काम करने वाले स्टार्टअप नेत्रडायन में भी स्टेक खरीदा था।
Read the Latest Business News on Metrocitysamachar.com पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में मेट्रो सिटी समाचार पर।

0 Shares