नई दिल्ली। शेयर बाजार में लोग छोटे से छोट फायदे की लालच में मेहनत से लगे होते हैं। ऐसे में यदि कोई आपसे यह कहे कि हम आपसे 15 हजार गुना दाम पर यह स्टॉक खरीदना चाहते हैं तो आप निश्चित ही उस शेयर को बेच देंगे। दरअसल, बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज ( BSE ) पर एक शेयर है जिसकी कीमत 6 रुपए और यह हर साल 15 रुपए डिविडेंट भी देता है। इसी शेयर के लिए खरीदार 15,000 गुना अधिक रकम देने के लिए तैयार हैं। इसके बावजूद भी इस शेयर को कोई बेचने के लिए तैयार नहीं है।

ये है वजह

यह शेयर एल्सिड इन्वेस्टमेंट ( Elcid Investments ) नाम की एक कंपनी का है जिसको लेकर शेयर बाजार के जानकार और निवेशक तक हैरान हैं। बता दें कि यह एक कंपनी एक स्मॉल कैप कंपनी है, लेकिन यह कंपनी ब्लूचिप कंपनी एशियन पेन्ट्स के प्रोमोटर्स में शामिल है। द इकोनॉमिक टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक, एल्सिड इन्वेस्टमेंट के पास एशियन पेन्ट्स में 2.83 करोड़ शेयर हैं। अगर शुक्रवार को एशियन पेन्ट्स के शेयरों के भाव पर नजर डालें तो यह 1,513 रुपए प्रति शेयर पर बंद हुआ है। इस हिसाब एल्सिड इन्वेस्टमेंट की शेयर होल्डिंग की कीमत 4,150 करोड़ रुपए है। वहीं, इस कंपनी की चुकता पूंजी मात्र 20 लाख रुपए और मार्केट कैप 12 लाख रुपए है।

आखिर कोई क्यों नहीं बेचना चाहता इस शेयर को

दिलचस्प बात यह भी है इस शेयर में बीते 8 महीनों से ट्रेडिंग भी नहीं हुई हैं। पिछली बार इसकी ट्रेडिंग 9 अगस्त 2018 को हुई थी जिसके बाद इसपर 5.89 रुपए का अपर सर्किट लग गया था। इस शेयर की एक और खास बात है कि साल 2011 से इसमें केवल 8 बार ही ट्रेडिंग हुई है। इसके बावजूद भी कंपनी हर साल 15 रुपए प्रति शेयर का डिविडेंड देती है। कई निवेशक इस शेयर को खरीदना चाहते हैं, लेकिन असली कीमत और वास्तविक बाजार मूल्य में इतने बड़े अंतर की वजह से कोई इसे बेचना नहीं चाहता।

Business जगत से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर और पाएं बाजार, फाइनेंस, इंडस्‍ट्री, अर्थव्‍यवस्‍था, कॉर्पोरेट, म्‍युचुअल फंड के हर अपडेट के लिए Download करें Patrika Hindi News App.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here