जम्मू बस स्टैंड ग्रेनेड हमले में आतंकी संगठन हिजबुल का हाथ, हमलावर गिरफ्तार

13

जम्मू, 07 मार्च। जम्मू के जनरल बस स्टैंड पर गुरुवार को स्टेट रोड ट्रांसपोर्ट कारपोरेशन की एक बस में ग्रेनेड विस्फोट होने से एक युवक की मौके पर ही मौत हो गई जबकि 30 लोग घायल हो गए। घायलों में से दो की हालत गंभीर बताई जा रही है। पुलिस ने इस संदर्भ में एक आतंकी यासीर जावेद भट्ट को गिरफ्तार किया है। पुलिस के अनुसार यासीर ने हिजबुल मुजाहिदीन आतंकी संगठन के कमांडर के निर्देश पर ग्रेनेड हमला किया था।

उल्लेखनीय है कि गुरुवार को जम्मू में बस स्टैंड पर खड़ी एक बस पर आतंकी द्वारा ग्रेनेड फेंका गया। ग्रेनेड जोरदार धमाके के साथ फटा। धमाके की आवाज़ सुन कर वहां मौजूद लोगों में अफरा-तफरी मच गई। पुलिस तुरंत मौके पर पहुंच गई तथा हमले में घायल 30 लोगों को तुरंत जम्मू मेडिकल कालेज़ में भर्ती करवाया गया, जहां पर दो की हालत गम्भीर बताई जा रही है। इस हमले में एक व्यक्ति की मौत भी हुई है।

हमले के बाद पुलिस ने हरकत में आते हुए घटना स्थल से एक युवक को हिरासत में ले लिया, जो भागने की कोशिश कर रहा था।इसकी पहचान यासीर भट्ट के रूप में हुई है, जिसने हिजबुल कमांडर के कहने पर जम्मू बस स्टैंड में बम फेंका था। हमले के बाद पूरे जम्मू शहर की सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है।

राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने इस हमले की निंदा करते हुए मृतक के परिवार को पांच लाख रुपये और घायलों को 20-20 हजार रुपये की आर्थिक मदद मुहैया कराने की घोषणा की है।

हमले में मारे गए व्यक्ति की पहचान उत्तराखंड हरिद्वार के रूड़की के रहने वाले 17 साल के मोहम्मद शारिक के रूप में हुई है जबकि घायलों की पहचान गोहर अहमद भट्ट (12) निवासी काजीगुंड, मुश्ताक अहमद (40) निवासी काजीगुंड, सतपाल (35), तारिक अहमद भट्ट (31) निवासी काजीगुंड, शब्बीर अहमद (24) निवासी डीकेपोरा कुलगाम, गुलफाम (28) निवासी रूड़की हरिद्वार, शाकिर (20) निवासी डीके मार्ग कुलगाम, बनारसी लाल (51) निवासी झज्जर कोटली, बिलाल (25) काजीगुंड, कुलदीप सिंह (42) निवासी प्रगवाल, निशा (35) निवासी प्रगवाल, सुख लाल (35) निवासी छत्तीसगढ़, शमशेर अहमद (22) निवासी राजौरी, मोहन सिंह (55) निवासी मीरा साहिब, चुन्नी लाल (71) निवासी पंजाब, साहिल (18) निवासी काजीगुंड, मोहम्मद फरीद (39) निवासी बिहार, हरजीत सिंह (42) निवासी गुरदासपुर, निसार अहमद (42) निवासी अनंतनाग, अहमद (31) निवासी बिहार, तोसीफ अहमद (12) निवासी कुलगाम, राजेश कुमार (25) निवासी बनी बसोली, जमील अहमद (20) निवासी पुंछ, दानिश अहमद (7) निवासी बांदीपोरा, अब्दुल हमीद (25) निवासी कुलगाम, मोहिंद्र सिंह (35) तलाब तिल्लो, सुख देव सिंह निवासी जानीपुर, मोहम्मद रियाज़ (32), वरिंद्र कुमार (23) निवासी अकलपुर, अहमद (31) के रूप में की गई है। इस संबंध में पुलिस ने 10 संदिग्धों को हिरासत में लिया है, जिनसे पूछताछ की जा रही है।

उल्लेखनीय है कि पिछले एक वर्ष में जम्मू बस स्टैंड पर यह तीसरा ग्रेनेड हमला है। इससे पहले एक बार ढाबे व दूसरी बार पुलिस चौकी को निशाना बनाकर ग्रेनेड हमला किया गया था।

शुक्रवार को कश्मीर बंद का आह्वान

उधर, जमात-ए-इस्लामी पर प्रतिबंध और जेकेएलएफ प्रमुख व अलगाववादी नेता यासीन मलिक पर जन सुरक्षा कानून (पीएसए) लगाए जाने के विरोध में शुक्रवार को ज्वाइंट रेसिस्टेंस लीडरशिप (जेआरएल) ने कश्मीर बंद का आह्वान किया है।

जेआरएल ने गुरुवार को एक बयान जारी कर कहा कि जेकेएलएफ प्रमुख यासीन मलिक की गिरफ्तारी और पीएसए के तहत उन्हें जम्मू की कोट बलवाल जेल में स्थानांतरित करना निंदनीय है। उन्होंने कश्मीर के लोगों से शुक्रवार की नमाज़ के बाद शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर बंद को सफल बनाने की अपील की है।