कांग्रेस जनों ने जिलाध्यक्ष जीवाराम आर्य के नेतृत्व में कार्य करने का वचन दिया

15

शिवगंज।सिरोही जिला कांग्रेस कमेटी के  जिलाध्यक्ष जीवाराम आर्य के नेतृत्व में नवगठित जिला कार्यकारिणी की घोषणा एवं हाल ही में हुई मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की पहली सिरोही यात्रा से अति उत्साहित कांग्रेस पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं ने रविवार को आयोजित जिला कांग्रेस की बैठक में भी जोश खरोंच के साथ भाग लेकर जिलाध्यक्ष के साथ कंधे से कंधा मिलाकर ईमानदारी से काम करने का अपना वचन दोहराया।

बैठक में विस्तृत चर्चा व कांग्रेस जनों के सुझावों के आधार पर शक्ति कार्यक्रम के 22,23 व 24 फरवरी को जिले की तीनों विधासभाओं में  आयोजित होने वाली कार्यशालाओं की सफलता के लिये रूपरेखा तैयार कर प्रभारी नियुक्त किये जाने के साथ ही विधानसभा चुनाव के दौरान पार्टी विरोधी गतिविधियों एवं आलाकमान के टिकट देने के फैसले के खिलाफ बगावत करने वाले निर्दलीय विधायक सहित जिले के सभी 13 निष्कासित पदाधिकारियों की घर वापसी नहीं करने के लिये पार्टी नेतृत्व को लिखने के निर्णय सहित विभिन्न प्रस्ताव सर्वसम्मति से पारित होने से चुनाव में इमानदारी,वफादारी व जिम्मेदारी से प्रत्याशियों के पक्ष में काम करने वाले कार्यकर्ताओं का मनोबल बढ़ा हैं।

बैठक में विधानसभा चुनाव में बगावत व भितरघात करने वाले निष्कासन से वंचित रहे पदाधिकारियों को लेकर उपस्थित कांग्रेस जनों के बीच एक बारगी गरमाया माहौल जिलाध्यक्ष जीवाराम आर्य के सम्बोधन से शान्त हो गया।चुनाव में हार को लेकर जिला संगठन को कमजोर बताने,छींटाकसी करने व  गलतफहमी पाल बैठें नेताओं को जिलाध्यक्ष के सारगर्भित व जोशीले भाषण से इस बात की नसीहत जरुर  मिली हैं कि जिला कांग्रेस का नेतृत्व मजबूत हाथों हैं वहीं हार से निराश हुए कांग्रेस जनों में बेहद उत्साह व उमंग का संचार हुआ।जिलाध्यक्ष जीवाराम आर्य ने अपने कुशल नेतृत्व का परिचय देते हुए उपस्थित कांग्रेस जनों को हार से सबक लेने,बीती बातों को भूल जाने, गीला-शिकवा दूर करने,आने वाले लोकसभा चुनाव की तैयारियों में संगठित होकर जुट जाने व पार्टी को विजय श्री दिलाने के लिये मजबूती से कार्य करने का मंत्र फूंका .

तब तालियों की गड़गड़ाहट के बीच “कांग्रेस पार्टी जिंदाबाद” “जीवाराम जी आगे बढ़ो,हम आपके साथ हैं”* इत्यादि नारों की जयघोष की गूंज के साथ सभी कांग्रेस जनों ने हाथ खड़े कर एक स्वर में स्वीकार किया।रेवदर से पीसीसी सदस्य अमित जोशी,जिला उपाध्यक्ष कुलदीप सिंह देवड़ा,भूपेन्द्र सिंह सोलंकी,राजेश गहलोत व पूर्व सरपंच सत्तार खान ने तो यहां तक कहा कि हमारे जिलाध्यक्ष जी के सफल नेतृत्व के कारण जिले में पार्टी संगठन मजबूत हैं और इनके हर संघर्ष में साथ रहकर पार्टी के लिए काम करेंगे।इन नेताओं ने कहा कि  20 साल बाद पार्टी संगठन व्यक्ति विशेष की गिरफ्त से बाहर निकलकर आम कार्यकर्ताओं तक पहूंचा हैं।अतःपार्टी के गद्दारों की पुनःघर वापसी करना आम कार्यकर्ताओं के साथ नाइंसाफ़ी होगी।इस पर पूर्व जिला प्रमुख चन्दनसिंह देवड़ा,प्रदेश कांग्रेस सचिव गुमानसिंह देवड़ा,राजेन्द्र सांखला,पूर्व विधायक लालाराम गरासिया सहित सभी ने हामी भर दी।