वीएचपी बजरंग दल के उतरने के बाद,ओवैशी का पालघर दौरा रद्द !

644

पालघर :भारिप बहुजन महासंघ के नेता प्रकाश अंबेडकर और असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) ने वंचित बहुजन आघाड़ी नामक गठबंधन बना आपस में हाथ मिलाया है।

सोमवार को प्रकाश अंबेडकर और असुदद्दीन को पालघर में संयुक्त रूप से एक जनसभा को संबोधित करना था, लेकिन ओवैशी की जनसभा के विरोध में वीएचपी बजरंग दल के उतरने के बाद ओवैशी ने अपना पालघर दौरा रद्द कर दिया। प्रकाश अंबेडकर ने कहा कि निजी कारणों के कारण ओवैशी नही आ सके, मुंबई में होने वाली वंचित बहुजन आघाड़ी की सभा में वह मौजूद रहेंगे।

भारिप बहुजन महासंघ के अध्यक्ष प्रकाश अंबेडकर ने भाजपा व कांग्रेस दोनों पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया कि आरएसएस संविधानिक ढांचे को नष्ट करने का षड्यंत्र रच रहा है। अंबेडकर ने कांग्रेस पर बरसते हुए कहा कि राफेल विमानों की संख्या अचानक कम कर दी गयी,लेकिन इस पर चर्चा ही नही हो रही है।

अंबेडकर ने कहा कि अगर राफेल विमानों की सौवीयर गारंटी नही मिलती तो विमान प्रदर्शनियों में सो पीस का कार्य करेंगे। अंबडेकर ने प्रियंका गांधी वाड्रा के राजनीति में प्रवेश पर कहा कि बिना पार्टी के संघठन मजबूत हुए किसी नेता से उम्मीद बेमानी होगी।

अंबेडकर ने कांग्रेस पर बरसते हुए कहा कि प्रमुख मुद्दों पर कांग्रेस चुप्पी साधे हुए है। माना जा रहा है कि ओवैशी और प्रकाश अंबेडकर दलित और मुस्लिम वोटों के बिखराव को रोकने के लिए दोनों नेताओं ने साथ आने का फैसला किया है। प्रकाश आंबेडकर महाराष्ट्र की राजनीति में चर्चित चेहरा हैं। वह महान शख्सियत बाबा भीमराव आंबेडकर के पौत्र हैं और लोकसभा सांसद भी रह चुके हैं।

सियासी पंडितों का मानना है कि प्रकाश आंबेडकर का यह सियासी दांव कांग्रेस-एनसीपी पर भारी पड़ सकता है। बता दें कि महाराष्ट्र में 17 पर्सेंट दलित और 13 फीसदी मुस्लिम आबादी है। औरंगाबाद, बीड, नांदेड़ और उस्मानाबाद में बड़ी तादाद में मुसलमान रहते हैं। इसके अलावा परभनी, लातूर, जालना और हिंगोली जैसे जिलों में भी मुस्लिम मतदाता निर्णायक भूमिका में हैं। जबकि दलित समुदाय वाले क्षेत्रों में औरंगाबाद, बीड,लातूर, उस्मानाबाद और नांदेड़ आते हैं।