कांग्रेस के शशि थरूर ने तिरूवनंतपुरम के आर्थिक गतिविधियों का केंद्र होने का जिक्र करते हुए वहां रेल सम्पर्क बढ़ाने की मांग की। उन्होंने कहा कि उनका क्षेत्र काफी समय से उपनगरीय ट्रेन का इंतजार कर रहा है। इसके लिये भूमि अधिग्रहण पूरा हो गया और अब इसमें देरी न हो। 
भाजपा के सुभाष बहेरिया ने कहा कि रेलवे अंडरपास आज समस्या बन गया है। कई स्थानों पर ये इतने छोटे बने हैं कि बसें पार नहीं कर पाती हैं और कई स्थानों पर इनमें पानी भर जाता है। इसके कारण परेशानी पेश आती है। 

भाजपा के सु्ब्रत पाठक ने कन्नौज में रेल सम्पर्क का विस्तार करने और इस रेलवे स्टेशन का नाम सम्राट हर्षवर्धन के नाम पर रखने की मांग की। भाजपा के ही विनोद चावड़ा ने गांधीधाम से दरभंगा के बीच रेल सम्पर्क बढ़ाने की मांग की। भाजपा के डी के सिंह पटेल ने गुजरात के डांग क्षेत्र को रेल सम्पर्क से जोड़ने की मांग की। इसी पार्टी के प्रदीप सिंह ने अपने क्षेत्र में सीमांचल एक्सप्रेस में पेंट्री कार की व्यवस्था करने तथा आम्रपाली एक्सप्रेस को जोगबनी तक बढ़ाने की मांग की। 

Read Also : भाजपा की महिला सांसदों से मुलाकात करेंगे प्रधानमंत्री मोदी
  
भाजपा के निशिकांत दुबे ने रेलवे संबंधी अनुदान की मांग पर चर्चा में सभी सदस्यों को हिस्सा लेने का मौका देने के लिये लोकसभा अध्यक्ष का आभार प्रकट किया। उन्होंने झारखंड के जसीडीह में डिविजन हेडक्वार्टर स्थापित करने की मंजूरी देने की मांग की। उन्होंने पिछली सरकारों के तहत रेलवे के संबंध में होने वाली घोषणाओं और उन्हें पूरा किये जाने के संबंध में श्वेत पत्र जारी करने की मांग की।

 Read Also : ममता ने पार्टी विधायकों से कहा – पिछली गलतियों के लिए माफी मांगें

कांग्रेस के गौरव गोगोई ने कहा कि बजट भाषण में कहा गया कि आंकड़ों की जानकारी अनुलग्नक में है। अगर जानकारी पढ़कर ही लेनी है तो यहां भाषण देने की जरूरत क्या है। चर्चा में भाजपा की साध्वी प्रज्ञा, किरीट सोलंकी, निशीथ प्रमाणिक, उमेश बी पाटिल, रमेश चंद्र और गोपाल ठाकुर ने भी भाग लिया।