अपने पांच बच्चों की हत्या के जुर्म में व्यक्ति को मिली मौत की सजा

1

संयुक्त राष्ट्र में अपने पांच बच्चों की हत्या के आरोपी 37 वर्षीय टिमोथी जोन्स को गुरुवार को अमेरिकी अदालत ने फांसी की सजा सुनाई। कोर्ट में जोन्स की पूर्व पत्नी अंबर कीजर ने जज से अपने मृत बच्चों की ईच्छा का हवाला देते हुए जोन्स की सजा माफ करने का आग्रह किया। उधर टिमोथी जोन्स के वकील ने दावा किया कि वो सीजोफ्रेनिया बिमारी से पीड़ित हैं। 
विज्ञापन
विज्ञापन

आरोपी जोन्स को पिछले सप्ताह अदालत ने अपने ही पांच बच्चों की हत्या के मामले में दोषी करार दिया था। बता दें कि जोन्स ने 2014 में अपने बच्चों की हत्या कर नौ दिनों तक शवों को अपनी गाड़ी में बंद रखा था। पांचों बच्चों की उम्र एक से आठ साल के बीच थी। दसवें दिन उसने शवों को कचड़े की थैली में बंद कर अलबामा पहाड़ से फेंक दिया था। जोन्स की गाड़ी से आ रहे सड़े हुए शवों की दुर्गंध के कारण पुलिस चौकी के पास एक अधिकारी को संदेह होने के बाद उसे गिरफ्तार किया गया। 

अदालत में जोन्स की पूर्व पत्नी कीजर ने कहा कि उसे मेरे बच्चों के साथ ऐसा करते हुए जरा भी दया नहीं आई, लेकिन मेरे बच्चे अपने पिता से प्यार करते थे। अगर मैं अपने बच्चों की तरफ से बोल रही होती तो मैं यही कहती कि जोन्स को फांसी नहीं दी जाए, उसे जीने दिया जाए। कीजर ने बताया कि अपने पति से अलग होते वक्त बच्चों की जिम्मेदारी उसने इसलिए नहीं ली क्योंकि जोन्स आर्थिक रूप से उससे ज्यादा संपन्न था। वह बच्चों की जरूरतों का ख्याल रखने में ज्यादा सक्षम था। 

बता दें कि जोन्स ने अदालत में कहा था कि उसे अपने छह साल के बेटे पर शक था कि वह अपनी मां के साथ मिल कर उसके खिलाफ साजिश रच रहा है, इसीलिए उसने बेटे की हत्या कर डाली। उसके बाद उसके बाकी बच्चों को भी मार डाला।