विभाग बदले जाने से आहत पंजाब के कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू राहुल गांधी और प्रियंका गांधी से शिकायत करने के बाद चंडीगढ़ लौट आए, लेकिन बुधवार को न तो उन्होंने नए विभाग का पदभार संभाला, न कोई बयान जारी किया, न ट्विटर हैंडल पर दिखाई दिए। बेबाक बयानबाजी के लिए चर्चित सिद्धू ने पूरी तरह चुप्पी साध रखी है।
विज्ञापन

सिद्धू के करीबियों से मिली जानकारी के अनुसार, वे बुधवार को सारा दिन चंडीगढ़ स्थित अपने आवास पर ही थे। आमतौर पर अपनी बात कहने के लिए वे कुछ चुनिंदा पत्रकारों के साथ अपने आवास पर वार्ता करते रहे हैं लेकिन बुधवार को उन्होंने ऐसा नहीं किया। सिद्धू के इस रुख को देखकर माना जा रहा है कि वे पार्टी आलाकमान द्वारा कैप्टन अमरिंदर सिंह के साथ उनका विवाद सुलझाए जाने के बाद ही नया विभाग संभालने का फैसला लेंगे। 

आलाकमान ने सीनियर नेता अहमद पटेल को सिद्धू और कैप्टन के बीच सुलह कराने का जिम्मा सौंपा है लेकिन कैप्टन इन दिनों चंडीगढ़ में नहीं हैं और 15 जून के बाद ही वे शहर में लौटेंगे। यह संभावना जताई जा रही है कि सिद्धू कैप्टन से सुलह से पहले विभाग नहीं संभालेंगे, भले ही इस बारे में उन्हें राहुल गांधी और प्रियंका गांधी ने निर्देश दे दिए हैं। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here