केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की एक टीम पूर्व कोलकाता पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार के आवास पर पहुंची थी। जांच एजेंसी ने उन्हें शारदा चिट फंड मामले में पूछताछ के लिए सोमवार को पेश होने के लिए समन दिया। वहां राजीव का कोई सूराग न मिलने पर सीबीआई टीन कोलकाता में पार्क स्ट्रीट स्थित राजीव कुमार के कार्यालय पर पहुंची है।

इससे पहले सीबीआई ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के करीबी और आईपीएस अधिकारी राजीव कुमार के खिलाफ रविवार को ही लुकआउट नोटिस जारी किया था। राजीव पर आरोप है कि उन्होंने चिटफंड घोटाले की जांच के दौरान सबूतों के साथ छेड़छाड़ की है। 

विज्ञापन

लुकआउट नोटिस जारी होने के बाद कुमार अब देश छोड़कर नहीं जा सकते हैं। राजीव कुमार को मिली गिरफ्तारी से रोक की अवधि शुक्रवार को खत्म हो गई है। उन्होंने गिरफ्तारी से रोक की अवधि बढ़ाने के लिए उच्चतम न्यायालय का दरवाजा खटखटाया था लेकिन उन्हें राहत नहीं मिली।

अब यदि कुमार विदेश जाने की कोशिश करते हैं तो उनकी यात्रा से पहले सीबीआई सभी एयरपोर्ट अथॉरिटी को सूचना देगी। नोटिस 23 मई को जारी किया गया औऱ यह एक साल तक प्रभावी रहेगा। सीबीआई ने सुप्रीम कोर्ट को सूचित किया है कि कुमार ने घोटाले से संबंधित सबूत जोकि सीडीआर के रूप में थे उनके साथ छेड़छाड़ और उन्हें बर्बाद किया है।  

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here