द्वारका मोड़ गैंगवार: मित्राऊं गांव से जुड़े तार, बदमाशों के हरियाणा और राजस्थान में छुपे होने का शक

1

द्वारका मोड़ मेट्रो स्टेशन पर रविवार को हुई गैंगवार के तार मित्राऊं गांव से जुड़ रहे हैं। मौके से बरामद बाइक मित्राऊं गांव के युवक की है, जो घटना के बाद से फरार हैं। पुलिस को आशंका है कि युवक का वारदात के कुछ न कुछ संबंध है। पुलिस अधिकारियों का दावा है कि वारदात में शामिल बदमाशों के कुछ महत्वपूर्ण सुराग हाथ लगे हैं। जल्द बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।
विज्ञापन

गैंगवार के बाद पुलिस को मौके से एक बाइक मिली थी। जांच के बाद पुलिस बाइक मालिक से संपर्क करने उसके घर गई, लेकिन वह गायब है। वह बाइक लेने के लिए थाने भी नहीं पहुंचा। इससे पुलिस को शक है कि युवक वारदात में शामिल हो सकता है। हालांकि, मौके से मिले वीडियो में पुलिस को गोली चला रहा एक युवक हेलमेट पहने दिख रहा है। पुलिस को आशंका है कि बदमाश बाइक से मौके पर पहुंचा और फिर वारदात को अंजाम देकर कार से भाग निकला।

फिलहाल पुलिस टीम वीडियो फुटेज और आसपास के इलाकों में सीसीटीवी फुटेज के जरिये बदमाशों की पहचान करने का प्रयास कर रही है। साथ ही, पुलिस मंजीत महाल गैंग के बदमाशों व विकास दलाल के करीबी से भी पूछताछ कर आरोपियों तक पहुंचने की कोशिश मेंजुटी है। पुलिस अधिकारियों को शक है कि वारदात को अंजाम देने वाले बदमाश हरियाणा या राजस्थान में छिपे होंगे। पुलिस हरियाणा व राजस्थान जाने वाले मार्गों पर लगे सीसीटीवी कैमरे को भी खंगाल रही है। अभी तक जांच में विकास के करीबी सूर्या व सनम नाम के बदमाशों पर वारदात को अंजाम देने का शक है।