बारिश होने से जहां लोगों को गर्मी से राहत मिली है। वहीं कई जगह ज्यादा बारिश होने से बारिश लोगों के लिए मुसीबत बन गई है। भारी बारिश के चलते बिहार में पूर्व मध्य रेल के हायाघाट रेलवे स्टेशन के पास बागमती नदी पर बने रेल पुल पर बाढ़ के पानी के भारी दबाव के कारण रविवार सुबह से समस्तीपुर-दरभंगा रेल खंड पर ट्रेनों का परिचालन बंद कर दिया गया है।  वहीं उत्तराखंड में मूसलाधार बारिश से हुए भूस्खलन के कारण 100 सड़कों  पर यातायात ठप हो गया। बारिश के कारण डिश एंटीना में करंट उतर आने से नैनीताल जिले के मुक्तेश्वर में एक छात्र की जान चली गई। जबकि यमुनोत्री हाइवे पर बड़कोट के पास सड़क धंसने से पोकलैंड के चालक की मौत हो गई। मौसम विभाग ने अगले 12 घंटे राज्य के चार जिलों में भारी बारिश की चेतावनी दी है। 

मौसम विभाग के अनुसार रविवार को गुजरात और आसपास के इलाकों में भारी से भारी बारिश हो सकती है। वहीं, राजस्थान, छत्तीसगढ़, कोंकण, गोवा, मध्य प्रदेश, विदर्भ, कच्छ और मध्य महाराष्ट्र में भारी बारिश का अनुमान है। वहीं, झारखंड में तेज हवाओं के साथ बारिश हो सकती है।

बिहार में बाढ़ के कारण ट्रेनों का परिचालन बाधित

मंडल रेल प्रबंधक अशोक माहेश्वरी ने बताया कि बागमती समेत अन्य नदियों के जलस्तर में लगातार हो रही वृद्वि और यात्रियों की सुरक्षा के मद्वेनजर ऐहतियात के तौर पर समस्तीपुर-दरभंगा रेल खंड पर गाड़ियों का परिचालन तत्काल बंद कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि इस रेल मंडल के हायाघाट स्टेशन के पास बने रेल पुल संख्या-16 पर पानी का भारी दबाव है जिसके कारण समस्तीपुर-दरभंगा रेल खंड से होकर चलने वाली सात ट्रेनों का परिचालन रद्द कर दिया गया है। माहेश्वरी ने बताया कि इसके अलावे नयी दिल्ली जाने वाली 12565 बिहार संपर्क क्रांति एक्सप्रेस समेत चार प्रमुख ट्रेनों का परिचालन भाया दरभंगा-सीतामढ़ी-मुजफ्फरपुर किया जायेगा। इस बीच, ट्रेनों का परिचालन बंद होने से यात्रियों को भारी कठिनाईयों का सामना करना पड़ रहा है। इस रेल खंड के विभिन्न स्टेशनों पर यात्रियों की भारी भीड़ लगी हुयी है। 

यूपी में रविवार को कहीं तेज, कहीं हल्की बारिश की संभावना
उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ और इसके आस-पास इलाकों में रात को हुई बारिश से मौसम सुहावना हो गया है और लोगों को गमीर् से निजात मिली है। प्रदेश में आज कहीं तेज तो कहीं हल्की बारिश के आसार हैं। रविवार को लखनऊ  का न्यूनतम तापमान 26 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मौसम विभाग के अनुसार आज राज्य में बादल छाए रहेंगे और कहीं तेज तो कहीं हल्की बारिश के आसार हैं। अगले 24 घंटों में पश्चिमी और पूवीर् उप्र के कुछ क्षेत्रों में भारी बारिश की संभावना है। मौसम में आर्द्रता अधिक होने के कारण थोड़ी-थोड़ी देर में रुक-रुक कर बारिश होती रहेगी।

दिल्ली में बारिशने बनाया रिकॉर्ड

राजधानी दिल्ली के कई हिस्सों में शनिवार को हुई झमाझम बारिश से मौसम सुहाना हो गया। मौसम विभाग के आयानगर केन्द्र ने सबसे ज्यादा 40 मिलीमीटर बरसात पिछले चौबीस घंटों में रिकार्ड की है। दिल्ली के ज्यादातर हिस्सों में शनिवार के दिन सुबह से ही बादल छाए रहे। बीच-बीच में हालांकि धूप भी निकली। लेकिन, ज्यादातर समय में बादल घने रहे। इस बीच रुक-रुक कर बरसात भी होती रही। मौसम विभाग के मुताबिक पिछले चौबीस घंटों के अंदर सफदरंजग में 14.4 मिलीमीटर, लोधी रोड पर 7.2 मिलीमीटर, रिज पर 30.6 मिलीमीटर और पालम केन्द्र में 16.4 मिलीमीटर बरसात रिकार्ड की गई। बरसात के चलते तापमान में भी गिरावट हुई है। दिल्ली के सफदरजंग केन्द्र में दिन का अधिकतम तापमान 32.5 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया जो कि सामान्य से दो डिग्री कम है। जबकि, न्यूनतम तापमान 25.4 डिग्री रहा जो कि सामान्य से दो डिग्री कम है। मौसम विभाग का अनुमान है कि बरसात का क्रम 31 जुलाई तक बना रहेगा। हालांकि, इस बीच झमाझम बरसात होने के आसार कम है। लेकिन, हल्की और मध्यम स्तर की बरसात बीच-बीच में होती रहेगी। इससे मौसम सुहाना बना रहेगा। 

जम्मू में खराब मौसम के कारण अमरनाथ यात्रा स्थगित
जम्मू एवं कश्मीर में खराब मौसम के कारण प्रशासन ने रविवार को अमरनाथ यात्रा स्थगित कर दी है। अधिकारियों ने कहा कि खराब मौसम के कारण किसी भी तीर्थयात्री को घाटी की ओर जाने नहीं दिया जाएगा। करीब 300 किलोमीटर लंबे जम्मू-श्रीनगर राजमार्ग पर कल से रुक-रुककर बारिश हो रही है। बालटाल और पहलगाम मार्गों पर भी मध्यम बारिश हो रही है। अधिकारियों ने कहा कि इस साल 1 जुलाई से यात्रा शुरू होने के बाद से 3,17,726 तीर्थयात्री बाबा बफार्नी के दर्शन कर चुके हैं।  श्रद्धालुओं के अनुसार, कश्मीर में समुद्र तल से 3,888 मीटर ऊपर स्थित अमरनाथ गुफा में बर्फ की विशाल संरचना बनती है जो भगवान शिव की पौराणिक शक्तियों की प्रतीक है।

उत्तराखंड में भूस्खलन से सौ सड़कों पर यातायात ठप

मौसम विभाग केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि अगले 12 घंटे तक देहरादून, हरिद्वार, नैनीताल और पिथौरागढ़ में भारी बारिश के आसार हैं। लोक निर्माण विभाग के प्रमुख अभियंता हरिओम शर्मा ने बताया कि शनिवार को बारिश की वजह से कुल 100 सड़कों पर यातायात ठप हो गया। बंद सड़कों को खोलने के लिए 150 से अधिक जेसीबी मशीनें लगाई गई हैं। 

उत्तराखंड में कहां कितनी सड़कें बंद 

जिला    बंद सड़कों की संख्या
पौड़ी     15
पिथौरागढ़    15
नैनीताल     15
देहरादून    12
चम्पावत    10
चमोली    08
टिहरी    08
बागेश्वर    07
उत्तरकाशी    06
रुद्रप्रयाग    04

पूर्वानुमान के विपरीत झारखंड में हो रही असमान बारिश

मौसम पूर्वानुमान के विपरीत झारखंड में इस बार असमान बारिश हो रही है। राज्य में पिछले तीन दिनों से मानसून सक्रिय होने के बाद भी रांची समेत कई भागों में अच्छी बारिश नहीं हो रही है। प्रदेश के उत्तरी भाग में इसका प्रभाव है। संताल परगना, पलामू और उत्तरी छोटानागपुर में अच्छी बारिश हो रही है। पिछले 24 घंटों के दौरान राज्य के धनबाद, सिमडेगा, पलामू, सरायकेला खरसांवा, दुमका, जामताड़ा आदि क्षेत्रों में झमाझम बारिश हुई। सबसे अधिक बारिश पलामू के मनातू में 72.4 मिलीमीटर हुई। राजमहल, बोकारो, जामताड़ा, कोडरमा, चक्रधरपुर, गुमला में भी अच्छी बारिश हुई। राज्य में असमान और कम बारिश ने किसानों की चिंता बढ़ा दी है। मौसम विभाग के अनुसार राज्य में मानसून की स्थिति में सुधार होने के संकेत मिल रहे हैं। 31 जुलाई के बाद मानसून फिर जोर पकड़ेगा। इसके प्रभाव से पूरे राज्य में बारिश होने की संभावना है। यह स्थिति बंगाल की खाड़ी के उत्तरी हिस्से में बन रहे एक निम्न दबाव क्षेत्र बनने की प्रक्रिया से बनी है।