VIDEO प्रयागराज के कुंभ की तरह काशी में होंगी सावन भर व्यवस्थाएं, डीजीपी-मुख्य सचिव ने पऱखी तैयारियां

0
5

सावन की तैयारियों को लेकर शुक्रवार को मंडलीय समीक्षा बैठक करने वाराणसी पहुंचे प्रदेश सरकार के मुख्य सचिव डॉ. अनूप चंद्र पांडेय व डीजीपी ओपी सिंह ने कहा कि कांवरियों की सुरक्षा सरकार की प्राथमिकता में हैं। हर जिले में सुरक्षा के विशेष बंदोबस्त होंगे। प्रयागराज कुम्भ मेले की तरह कांवर यात्रा और सावनभर सुरक्षा रहेगी। एटीएस की टीम  हेलीकाप्टर से निगरानी करेगी। हेलीकाप्टर के लिए प्रदेश सरकार से मांग की गयी है। जरूरत के मुताबिक पैरामीलिट्री फोर्स भी लगाए जाएंगे। 

कमिश्नरी सभागार में अधिकारियों ने वाराणसी के साथ ही प्रयागराज, आजमगढ़ और मिर्जापुर मंडल के अधिकारियों के साथ बैठक की। जिसमें यातायात, सुरक्षा और श्रद्धालुओं के सुगम दर्शन-पूजन की तैयारियों की समीक्षा की। सभी मंडलों के कमिश्नर और आईजी ने तैयारियों का पावर प्वाइंट प्रजेंटेशन किया। जिसमें प्रयाराज से वाराणसी आने वाले एक मार्ग को बंद करने पर सहमति बनी। साथ ही शहर में ट्रैफिक को लेकर विशेष रणनीति तैयार करने का निर्देश दिया। 

बैठक के बात मीडिया से बातचीत में मुख्य सचिव ने कहा कि महीनेभर तक चलने वाला सावन माह उल्लासपूर्वक मनाया जाएगा। इसके लिए प्रशासन और पुलिस ने तैयारी पूरी कर ली है। सावल से पहले ट्रैफिक को लेकर गाइडलाइन जारी कर दिए जाएंगे।

कांवरियों के रुकने के लिए जगह-जगह शिविर लगाए जाएंगे। यहां उनके ठहरने, सुरक्षा और इलाज के बंदोबस्त कर दिए गए हैं। कांवर यात्रा वाले मार्गों को सुगम बनाया जाएगा। डीजीपी ने कहा कि इस बार कुंभ मेले की तरह सुरक्षा पर विशेष नजर रहेगी। बैठक के बाद मुख्य सचिव व डीजीपी काशी विश्वनाथ मंदिर पहुंचे। यहां दर्शन-पूजन करने के बाद अयोध्या के लिए रवाना हो गए।

15 जुलाई से पहले सभी तैयारियों पूरी करें 
मुख्य सचिव अनूप चंद्र पांडेय ने कहा कि कावड़ यात्रा और एक माह तक शिवालयों में होने वाले विशेष पूजा अर्चन को लेकर सरकार पूरी तरह गंभीर एवं संवेदनशील है। श्रद्धालुओं को किसी भी प्रकार की परेशानी न होने पाए। जनपदों में जो भी समस्याएं हों। उन्हें चिह्नित और मैपिंग करके संबंधित विभागों के साथ समन्वय कर युद्धस्तर पर अभियान चलाकर हर हाल में 15 जुलाई तक सभी तैयारियां पूरी कर लें। काशी विश्वनाथ मंदिर में आने वाले दर्शनार्थियों को बेहतर से बेहतर सुविधा उपलब्ध कराएं। 

प्रयागराज से वाराणसी तक रूट डायवर्जन का लगेगा साइनेज बोर्ड 
प्रयागराज से वाराणसी आने वाले मार्गों पर रूट डायवर्जन की सूचना का व्यापक प्रचार-प्रसार के साथ ही जगह-जगह साइनेज लगाने का निर्देश दिया। साथ ही काशी विश्वनाथ मंदिर परिसर सहित शहर के प्रमुख चौराहों एवं तिराहों के अलावा कांवर यात्रा के मार्गों पर लगे सीसीटीवी कैमरों को क्रियाशील रखे पर जोर दिया 

कांवर यात्रियों के साथ अच्छा व्यवहार करे पुलिस 
मुख्य सचिव ने कांवर यात्रियों सहित श्रद्धालुओं के साथ पुलिस को फ्रेंडली व्यवहार करने पर जोर दिया। पुलिस अधिकारियों को निर्देशित किया कि प्रयागराज में संपन्न हुए महाकुंभ एवं वाराणसी में प्रवासी भारतीय दिवस कार्यक्रम के दौरान जिस प्रकार पुलिस के जवानों ने अतिथियों के साथ सद्व्यवहार किया, उसकी आज भी प्रशंसा होती है। इसी प्रकार का सकारात्मक व्यवहार पुलिस के जवान कांवर यात्रियों एवं शिव भक्तों के साथ करें।

सावनभर 24 घंटे तीन शिफ्टों में पूरे शहर की होगी सफाई
नगर आयुक्त को निर्देशित किया कि श्रावण मास के दौरान शहर के साथ-साथ काशी विश्वनाथ मंदिर एवं प्रमुख शिवालयों के आसपास साफ सफाई के चाक-चौबंद इंतजाम सुनिश्चित कराए जाएं। इसके लिए सफाईकर्मियों की 24 घंटे की 8-8 घंटे के शिफ्टों में ड्यूटी लगाई जाए। मॉनिटरिंग के लिए भी नगर निगम के अधिकारियों सहित सफाई सुपरवाइजरों की तैनाती सुनिश्चित कराएं। गंगा घाटों पर समुचित सफाई व्यवस्था सुनिश्चित कराने के साथ ही स्नान करने वालों के लिए आवश्यक सुरक्षा सूचनाओं से संबंधित साइनेज सरल एवं विभिन्न भाषाओं में लगवाया जाए। 

इलाहाबाद मार्ग पर रोडवेज बसों की रफ्तार नियंत्रित रखवाएं 
मुख्य सचिव अनूप चंद्र पांडेय ने क्षेत्रीय प्रबंधक रोडवेज को निर्देशित करते हुए कहा कि सावन के दौरान वाराणसी-प्रयागराज मार्ग पर रोडवेज बसों को नियंत्रित स्पीड से चालने का निर्देश दिया जाए। उनकी नियमित जांच करायी जाए। शिविरों के पास अस्थाई शौचालय की व्यवस्था डीएम करें। निर्बाध आपूर्ति के साथ ही सुरक्षा की सभी व्यवस्था बिजली विभाग करे। शिवालयों तथा कांवर मार्गों के बिजली तारों को दुरुस्त कराए। शिविरों में बिजली कनेक्शन, पेयजल एवं साफ सफाई की व्यवस्था होनी चाहिए। इलाज की सुविधा के लिए शिवालयों व मार्गों पर डॉक्टरों के साथ एंबुलेंस की उपलब्धता सुनिश्चित कराएं। 

कंट्रोल रूम पर इंटीग्रेटेड व्यवस्था तैयार होंगे 
पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह ने कहा कि कांवर मार्गों के साथ-साथ शिवालयों एवं गंगा घाटों पर सुरक्षा के चाक-चौबंद व्यवस्था सुनिश्चित कराएं। घाटों पर पर्याप्त संख्या में गोताखोरों की उपस्थिति रखी जाए। पुलिस अधिकारियों को 24 घंटे पेट्रोलिंग के साथ-साथ अपने-अपने क्षेत्रों में फुट पेट्रोलिंग सुनिश्चित कराया जाए। कंट्रोल रूम को इंटीग्रेटेड बनाया जाए। ताकि किसी भी प्रकार की सूचना प्राप्त होने पर समस्या का त्वरित निस्तारण सुनिश्चित हो सके। नागरिक सुरक्षा संगठन के स्वयंसेवकों की ब्रीफिंग कर सकारात्मक सहयोग लिए जाने पर जोर दिया। 

अन्य निर्देश 
– मैदागिन से गोदौलिया होते हुए सोनारपुरा तक नो-वेहिकल्स जोन रहेगा 
– टेंगरा मोड़ चौराहा, टेंगरा मोड़ से डाफी तक, राजातालाब अंडरपास एवं मोहनसराय से कछवां मार्ग को एनएचएआई दुरुस्त कराएगा 
– गोलगड्डा तिराहा, जलालीपुरा क्रॉसिंग, जीवनाथपुर, दुर्गाकुंड चौराहा, बीएचयू-नरिया मार्ग, लंका, आकाशवाणी- महमूरगंज मार्ग, सिगरा चौराहा, कैंट-सिगरा मार्ग, अंधरापुल से कैंट मार्ग, रोडवेज के पास, आशापुर से काली माता मंदिर, अमरा-आखरी से भिखारीपुर तक तथा चौकाघाट से अंधरापुल तक क्षतिग्रस्त सड़क का मरम्मत का कार्य पीडब्ल्यूडी कराएगा 
– सावन के दौरान बनने वाले कंट्रोल रूम में नगर निगम, बिजली, जलनिगम, जल संस्थान, खाद्य सुरक्षा आदि विभागों के अधिकारियों की उपस्थिति सुनिश्चित कराया जाए। 
– कांवरिया मार्ग स्थित होटल एवं रेस्टोरेंट में सामग्रियों की रेट सूची लगवाने के साथ ही खाद्य पदार्थों का नियमित जांच भी होनी चाहिए।