नई दिल्लीदिल्ली-एनसीआर में इन दिनों भीषण गर्मी है। एक तरफ लोग लू का कहर झेल रहे हैं तो दूसरी तरफ उमस भी कम नहीं है। आने वाले दो से तीन दिनों तक अभी यह स्थिति जारी रह सकती है। मौसम विभाग के अधिकारियों के मुताबिक दिल्ली में अभी मॉनसून आने में देरी है और 4 जुलाई से 6 जुलाई के बीच राजधानी में मॉनसून के बादल बरसेंगे। मौसम विभाग के मुख्य अधिकारी डी. सिवानंद पाई ने कहा, ‘मॉनसून फिलहाल पूर्वी उत्तर प्रदेश में है और अगले तीन दिनों में इसके दिल्ली तक पहुंचने की संभावना है। हमें उम्मीद है कि 4 से 6 जुलाई के बीच राजधानी में बारिश शुरू होगी।’ दिल्ली-एनसीआर ही नहीं बल्कि पूरे भारत में ही मॉनसून कमोबेश कमजोर रहा है।

आमतौर पर दिल्ली में 29 जून तक मॉनसून की बारिश शुरू हो जाती है। इस बीच रविवार को एक बार फिर दिल्ली में खासी तपन रही। दिन भर लू का कहर रहा और सफदरजंग पर अधिकतम तापमान 42.2 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया। यही नहीं न्यूनतम तापमान भी 32.2 डिग्री सेल्सियस रहा है, जो सामान्य से 4 डिग्री अधिक है।

राजधानी का सबसे गर्म इलाका माने जाने वाले पालम में तापमान 44.8° सेल्सियस हो गया, जबकि रिज पर तापमान 43.7 डिग्री सेल्सियस था। इसी तरह आयानगर में तापमान 43.5 डिग्री था। यही नहीं नमी यानी ह्यूमिडिटी का स्तर भी 60 से 30 पर्सेंट तक रहा। मौसम विभाग के मुताबिक सोमवार रात को हल्की बारिश हो सकती है, जिससे कुछ राहत मिलने की संभावना है। यही नहीं एयर क्वॉलिटी इंडेक्स पर भी स्थिति बेहद खराब है।

जून में हुई 33% कम बारिश, बड़ा हिस्सा सूखे की कगार पर
पूरे देश भर में जून महीने में 33 फीसदी कम बारिश हुई है। बीते 100 सालों में यह 5वां सबसे सूखा जून गुजरा है। जून में एक तरफ मॉनसून उम्मीद से काफी कमजोर रहा है, जबकि मौसम विभाग के अधिकारियों का कहना है कि जुलाई के पहले चरण में अच्छी बारिश हो सकती है।